सिक्किम-लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ झड़प का आपस में कोई कनेक्शन नहीं: सेना प्रमुख नरवणे

उन्होंने (Army Chief) कहा‚ मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि हमारी उत्तरी सीमाओं पर बुनियादी क्षमताओं का विकास पटरी पर है। कोविड़–19 (Coronavirus) महामारी के कारण हमारे बलों की स्थिति में कोई बदलाव नहीं होगा। 

Army Chief

भारतीय थलसेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे (Army Chief) ने कहा कि चीन के साथ सीमा (LAC) पर भारतीय सैनिक (Indian Army) अपनी ‘स्थिति’ पर कायम हैं और सीमावर्ती क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे के विकास का काम चल रहा है। उनका यह बयान दोनों देशों के जवानों के बीच हिंसक झड़पों की दो अलग अलग घटनाओं के कुछ दिन बाद आया है।

थलसेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे (Army Chief) ने कहा कि पूर्वी लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में हुई घटनाओं में चीनी और भारतीय सैनिकों (Indian Army) का व्यवहार आक्रामक था और इस वजह से दोनों पक्षों के जवानों को मामूली चोटें आईं। थल सेना प्रमुख ने कहा कि स्थानीय स्तर पर बातचीत के बाद दोनों पक्षों के बीच मामला सुलझा लिया गया।

क्या है MSME, केंद्र की घोषणाओं का लाभ उठाने के लिए कैसे करें रजिस्ट्रेशन?

सेना प्रमुख (Army Chief) ने कहा कि यह दोहराया गया है कि इन दोनों घटनाओं का न तो आपस में कोई संबंध था और न ही उनका किसी अन्य वैश्विक या स्थानीय गतिविधियों से कोई संबंध था। वह गतिरोध के संबंध में संवाददाताओं द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब दे रहे थे।

जनरल नरवणे (Army Chief) ने कहा‚ ऐसी सभी घटनाओं के हल के लिए पहले से ही स्थापित तंत्र हैं जिनमें जहां दोनों ओर से स्थानीय अधिकारी परस्पर स्थापित प्रोटोकॉल और वुहान तथा मामल्लापुरम बैठकों के बाद प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए रणनीतिक दिशानिर्देशों के अनुसार मुद्दों का समाधान किया जाता है। उन्होंने कहा कि भारतीय सैनिक (Indian Army) हमेशा सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति बनाए रखते हैं।

उन्होंने (Army Chief) कहा‚ मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि हमारी उत्तरी सीमाओं पर बुनियादी क्षमताओं का विकास पटरी पर है। कोविड–19 (Coronavirus) महामारी के कारण हमारे बलों की स्थिति में कोई बदलाव नहीं होगा। ऐसा माना जा रहा है कि हिंसक झडप के नौ दिन बाद भी पूर्वी लद्दाख क्षेत्र और उत्तरी सिकिम्म में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई