ट्रंप की भारत यात्रा से पहले US ने दी पाक को नसीहत, आतंकियों पर हो कार्रवाई

अमेरिका (America) के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप (Donald Trump) भारत और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच तनाव कम करने को बढ़ावा दे रहे हैं।

Donald Trump

अमेरिका की कश्मीर मुद्दे पर भारत-पाक की हर गतिविधियों पर है ‘पैनी नजर'। Photo Credit: Rhitwique Dutta

व्हाइट हाउस ने अमेरिका (America) के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप (Donald Trump) भारत और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच तनाव कम करने को बढ़ावा दे रहे हैं। इसके साथ ही उसने जोर दिया कि दोनों देशों के बीच वार्ता तभी सफल होगी जब पाकिस्तान अपने देश में आतंकवादियों (Terrorists) और चरमपंथियों पर कार्रवाई करे। डोनल्ड ट्रंप (Donald Trump) की आगामी भारत यात्रा के दौरान कश्मीर मुद्दे पर फिर मध्यस्थता की पेशकश पर एक सवाल के जवाब में एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने कहा‚ मुझे लगता है कि आप राष्ट्रपति से जो सुनेंगे वह भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव कम करने के लिए काफी प्रेरित करने वाला होगा। दोनों देशों को अपने मतभेदों को हल करने के लिए एक–दूसरे के साथ द्विपक्षीय वार्ता करने के वास्ते प्रेरित करने वाला होगा।

Donald Trump
अमेरिका की कश्मीर मुद्दे पर भारत-पाक की हर गतिविधियों पर है ‘पैनी नजर’। Photo Credit: Rhitwique Dutta

ट्रंप (Donald Trump) ने भारत और पाकिस्तान (Indo-Pak) के बीच विवाद को हल करने में ‘मदद’ करने की पिछले महीने फिर से पेशकश की थी। उन्होंने कहा था कि अमेरिका कश्मीर पर दोनों देशों के बीच की गतिविधियों पर ‘करीबी नजर’ रख रहा है।

पढ़ें: पाकिस्तान की कंगाली पक्की! 

हालांकि‚ ट्रंप (Donald Trump) पहले भी कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता की पेशकश कर चुके हैं लेकिन भारत ने साफ कह दिया है कि यह उसके और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मामला है तथा इसमें तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की कोई गुंजाइश नहीं है।

अधिकारी ने कहा‚ हमारा हमेशा से मानना है कि दोनों देशों के बीच किसी भी सफल बातचीत की नींव पाकिस्तान के अपने क्षेत्र में आतंकवादियों और चरमपंथियों पर कार्रवाई करने के प्रयासों पर आधारित है।

अधिकारी ने पत्रकारों को बताया‚ ‘लेकिन मुझे लगता है कि राष्ट्रपति दोनों देशों से नियंत्रण रेखा (LoC) पर शांति एवं स्थिरता बनाए रखने तथा ऐसी कार्रवाइयों या बयानों से बचने का अनुरोध करेंगे जो क्षेत्र में तनाव बढ़ा सकते हैं।

अफगानिस्तान शांति प्रक्रिया पर एक सवाल के जवाब में अधिकारी ने कहा कि अमेरिका‚ भारत (India) को प्रेरित करेगा कि वह इस शांति प्रक्रिया का समर्थन करने के लिए जो कर सकता है वह करे ताकि यह सफल हो। 

यह भी पढ़ें