अमेरिका ने भारत को सतर्क किया, पाकिस्तान में बैठे आतंकी कर सकते हैं जम्मू-कश्मीर में हमला

जम्मू-कश्मीर के मसले पर दुनिया के सभी देश भारत के साथ हैं। वहीं, पाकिस्तान की हरकतों से उसके इरादे दुनिया के सामने जाहिर हो चुके हैं। घाटी से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से सीमा पार से लगातार आतंकियों द्वारा जम्मू-कश्मीर में अशांति फैलाने की कोशिश की जा रही है। अब अमेरिका (America) ने भी भारत को सतर्क किया है कि पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठन जम्मू-कश्मीर में हमला कर सकते हैं।

America
पाकिस्तान में बैठे आतंकी कर सकते हैं जम्मू-कश्मीर में हमला

अमेरिका का कहना है कि कश्मीर मुद्दे को लेकर बौखलाए पाकिस्तान की ओर से भारत में आतंकी हमले कराए जा सकते है। अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के इंडो-पैसेफिक क्षेत्र के असिस्टेंट सेक्रेटरी रैंडल शिल्वर ने वॉशिंगटन में 1 अक्टूबर को इस बात को दोहराया।उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा, ‘कई लोगों के मन में चिंता है कि जम्मू-कश्मीर के मसले पर पाकिस्तान क्रॉस बॉर्डर आतंकवाद में बढ़ावा कर सकता है। मुझे नहीं लगता है कि चीन की ओर से इस बात पर भी पाकिस्तान का समर्थन किया जाएगा।’

वॉशिंगटन में एक कार्यक्रम के दौरान जब रैंडल से जम्मू-कश्मीर के मसले पर सवाल किया गया और इस मसले पर चीन के द्वारा पाकिस्तान का समर्थन करने की बात कही गई तो उन्होंने इस पर जवाब दिया। उन्होंने कहा कि चीन का पाकिस्तान को समर्थन सिर्फ डिप्लोमेटिक और राजनीतिक है। अमेरिकी डिप्लोमेट ने कहा कि चीन ने पाकिस्तान का अंतरराष्ट्रीय मंच पर समर्थन किया है। कश्मीर का मसला संयुक्त राष्ट्र में उठाया जाए या नहीं इसपर विचार किया जा रहा है।

चीन के साथ पाकिस्तान के अच्छे संबंध हैं। साथ ही उनका भारत के साथ भी मुकाबला बढ़ रहा है। रैंडल शिल्वर ने कहा कि भारत-चीन के संबंधों पर उन्होंने भारत के विदेश मंत्री एस जयंशकर से बात की है। वह चीन के साथ अच्छे संबंध चाहते हैं। लेकिन इस बात को नकारा नहीं जा सकता है कि कश्मीर मसले समेत कई बड़े मुद्दों में चीन ने पाकिस्तान का साथ दिया है। गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान इस पर विरोध कर रहा है।

पढ़ें: आतंकियों से निपटने के लिए जम्मू-कश्मीर पुलिस को मिलेंगे ड्रोन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here