राज्यसभा सांसद अमर सिंह का सिंगापुर के अस्पताल में निधन

राज्यसभा सांसद अमर सिंह (Amar Singh) का 1 अगस्त (शनिवार) को सिंगापुर के एक अस्पताल में निधन हो गया है। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। अमर सिंह पिछले लगभग 6 महीने से सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में भर्ती थे।

Amar Singh

फाइल फोटो।

राज्यसभा सांसद अमर सिंह (Amar Singh) का 1 अगस्त (शनिवार) को 64 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। कुछ दिनों पहले ही उनका किडनी ट्रांसप्लांट किया गया था। अमर सिंह पिछले लगभग 6 महीने से सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में भर्ती थे। इलाज के दौरान अमर सिंह ने शनिवार की दोपहर अपनी आखिरी सांस ली।

अमर सिंह समाजवादी पार्टी के बड़े नेताओं में एक थे। वे समाजवादी पार्टी के पूर्व महासचिव रहे। साथ ही राज्यसभा सांसद भी रहे । सपा के संस्थापक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के वो काफी करीबी रहे।

नेपाल के साथ मिलकर भारत के खिलाफ चाल चल रहा चीन, लिपुलेख पास के नजदीक तैनात किया PLA बटालियन

अमर सिंह ( Amar Singh) ने अपनी राजनीति की शुरुआत कांग्रेस पार्टी से की थी। वो ऑल इंडिया कांग्रेस समिति के सदस्य रहे और एक समय कलकत्ता जिला कांग्रेस से भी जुड़े थे। साल 1996 के आसपास वो समाजवादी पार्टी में शामिल हुए थे। वे जल्दी ही पार्टी के महासचिव बना दिए गए। पार्टी नें उनका रूतबा बढ़ता गया। कहा जाता था कि मुलायम कोई भी काम बगैर उनके पूछे नहीं करते।

एक दौर में अमर सिंह (Amar Singh) पर पार्टी की बड़ी जिम्मेदारियां थीं। नेटवर्किंग से लेकर तमाम अहम जिम्मेदारियों का दारोमदार उनके कंधों पर था। 90 के दशक के आखिर में अमर सिंह को उत्तर प्रदेश में शुगर लॉबी का असरदार आदमी माना जाता था। इसी सिलसिले में उनकी तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम से करीबी बढ़ी

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने पूर्व सांसद अमर सिंह (Amar Singh) के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, “उनके असामयिक निधन पर शोक व्यक्त करता हूं। दुख की इस घड़ी में उनके परिजनों और सहयोगियों के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त करता हूं और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करता हूं। ओम शांति।”