मारा गया अल-कायदा का सरगना कासिम अल-रिमी, अमेरिका ने रखा था 10 मिलियन डॉलर का इनाम

अमेरिका ने यमन में एक आतंकरोधी ऑपरेशन के तहत आतंकी संगठन अल-कायदा के संस्थापकों में से एक और आतंकी संगठन के नेता कासिम अल-रिमी (Qasim Al-Rimi) को मार गिराया।

Qasim Al-Rimi

अमेरिका ने यमन में एक आतंकरोधी ऑपरेशन के तहत आतंकी संगठन अल-कायदा (Al-Qaeda) के संस्थापकों में से एक और आतंकी संगठन के नेता कासिम अल-रिमी (Qasim Al-Rimi) को मार गिराया।

अमेरिका ने यमन में एक आतंकरोधी ऑपरेशन के तहत आतंकी संगठन अल-कायदा (Al-Qaeda) के संस्थापकों में से एक और आतंकी संगठन के नेता कासिम अल-रिमी (Qasim Al-Rimi) को मार गिराया। साथ ही अल-कायदा सरगना आयमान अल-जवाहिरी के एक सहयोगी को भी अमेरिकी सुरक्षा बलों ने ढेर कर दिया।

Qasim Al-Rimi
कासिम अल-रिमी (फाइल फोटो)।

अमेरिका ने यमन में एक आतंकरोधी ऑपरेशन के तहत आतंकी संगठन अल-कायदा (Al-Qaeda) के संस्थापकों में से एक और आतंकी संगठन के नेता कासिम अल-रिमी (Qasim Al-Rimi) को मार गिराया। साथ ही अल-कायदा सरगना आयमान अल-जवाहिरी के एक सहयोगी को भी अमेरिकी सुरक्षा बलों ने ढेर कर दिया। व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान के मुताबिक, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के निर्देश पर यमन में इस आतंकरोधी कार्रवाई को अंजाम दिया गया। व्हाइट हाउस ने इस कार्रवाई में दोनों आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की।

अमेरिका ने घोषित किया था 10 मिलियन डॉलर का इनाम

अमेरिका ने रिमी (Qasim Al-Rimi) की सूचना देने के लिए 10 मिलियन डॉलर (करीब 71 करोड़ रुपए) के इनाम का ऐलान किया था। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भी रिमी को मारे जाने की पुष्टि की है। ट्रम्प ने कहा, “रिमी के मारे जाने के बाद अरब समेत पूरी दुनिया में अल-कायदा (Al-Qaeda) की गतिविधियों में कमी आएगी। साथ ही हम सुरक्षा पर खतरे को कम करने की दिशा में और मजबूत होंगे।” हालांकि ट्रम्प ने इस बात की जानकारी नहीं दी कि अमेरिकी सेना ने रिमी (Qasim Al-Rimi)  को कब और कैसे मार गिराया। ट्रम्प ने यह भी कहा, “रिमी की मौत से अमेरिका के हित और हमारे सहयोगी सुरक्षित हो गए हैं। अपने लोगों की सुरक्षा के लिए हम आतंकियों को खोज-खोजकर खत्म करते रहेंगे।”

5 महीनों में अमेरिकी की तीसरी बड़ी कार्रवाई

बीते 5 महीनों में अमेरिकी की तरफ से तीसरी बड़ी कार्रवाई है। अक्टूबर, में अमेरिकी हवाई हमले में आईएस (IS) सरगना अबु बकर अल बगदादी मारा गया था। 3 जनवरी को अमेरिका ने इराक एयरपोर्ट पर हमला कर ईरान के सैन्य नेता कासिम सुलेमानी को मार गिराया था।

कौन था रिमी?

कासिम अल-रिमी (Qasim Al-Rimi) 1990 के दशक में अल-कायदा (Al-Qaeda) में शामिल हुआ था। वह अफगानिस्तान में ओसामा बिन लादेन के साथ भी रहा। रिमी ने अलकायदा अरब पेनिन्सुला (एक्यूएपी) का गठन किया था। रिमी अलकायदा सरगना अयमान अल-जवाहिरी के बाद दूसरे नंबर पर आता था। रिमी की अगुआई में अल-कायदा (Al-Qaeda) ने यमन में कई हिंसक वारदातों को अंजाम दिया और अमेरिकी सेनाओं पर हमले करवाए। 2015 के बाद से वह अमेरिका की मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में था।

जेल तोड़ कर भाग गया था रिमी

रिमी (Qasim Al-Rimi) ने एक 18 मिनट के वीडियो में बताया था कि उसी के गुट ने 6 दिसंबर को फ्लोरिडा स्थित अमेरिकी नेवी के एयर स्टेशन पर हमला करवाया था। कासिम अल-रिमी उन 23 लोगों में से एक था जो अपने अल-कायदा (Al-Qaeda) के साथियों के साथ 3 फरवरी, 2006 को यमन में जेल तोड़ कर भाग गए थे। रिमी जुलाई, 2007 में हुए आत्मघाती हमले से भी जुड़ा था, जिसमें स्पेन के आठ पर्यटकों की मौत हो गई थी।

पढ़ें: इमरान ने फिर की पीएम मोदी के खिलाफ बयानबाजी, कहा- पाकिस्तान पर हमला उनकी आखिरी गलती होगी

यह भी पढ़ें