भारतीय सेना को मिलेगा दुनिया का सबसे एडवांस हेलमेट, जवानों का होगा संकटमोचन

Helmet

अब आपातकालीन स्थितियों‚ प्राकृतिक आपदाओं व दुर्घटनाओं की स्थिति में देश में सैन्य और अर्धसैनिक बल के जवानों की मदद व लक्ष्य तक न केवल आसानी से पहुंचाया जा सकेगा बल्कि पीडि़तों को राहत भी पहुंचाया जा सकेगा। इसके लिए रक्षा कंपनी अजनालेंस ने अजना बोल्ट नाम से एक खास तरह का हेलमेट (Helmet) डिफेन्स एक्सपो 2020 के उद्घाटन अवसर पर लॉन्च किया गया।

Helmet

यह हेलमेट (Helmet) ड्रोन कैमरे की रिकॉडिंर्ग से अपने अंदर में लगे लेस (चश्मे) के जरिये नियंत्रण कक्ष में बैठे व्यक्ति द्वारा निर्देशित किया जाएगा‚। उन्हें अलग से किसी स्क्रीन की आवश्यकता नहीं होगी। अंतर्राष्ट्रीय रक्षा प्रदर्शनी में इसका प्रदर्शन किया गया। सैन्य कर्मियों को धुएं‚ धूल‚ आग और भारी बारिश आदि के मौके पर सामने देखने में कठिनाई होती है। ऐसे में उसे नियंत्रण कक्ष से निर्देश प्राप्त होंगे। हेलमेट (Helmet) पर विशेष चश्मे पर दीवार के पीछे‚ टीले या पहाड़ के दूसरी तरफ क्या है। नुकसान या कोई डर है तो इसकी पहचान की जा सकती है और साथ ही लIय तक पहुंचाया जा सकता है।

इसके अलावा कंपनी ने छात्रों के लिए ‘अजन लाइट’ विकसित किया है। यह पूरी तरह से कंप्यूटर प्रोग्रामिंग से सुसज्जित है। इससे छात्रों को कंप्यूटर रखने की आवश्यकता नहीं होगी। छात्र एनसीईआरटी सीबीएसई के अपने पाठ्यक्रम से अपनी शिक्षा जारी रख सकेगा। इसे प्रैक्टिकल आदि का मार्गदर्शन भी मिलेगा। पहले चरण में‚ ये चश्मा आई आई टी के लिए बनाए जा रहे हैं। उसके बाद‚ दूसरे चरण में उसमें अन्य पाठ्यक्रम कार्यक्रम शुरू किए जाएंगे। इस भारतीय तकनीक पर आधारित हार्डवेयर का निर्माण फिलहाल चीन में किया जा रहा है‚ जहां इसकी लागत अपेक्षाकृत कम है। आगे हार्डवेयर भी भारत में निर्मित होगा। कंपनी मैकेनिक के लिए मैकेनिकल इंजीनियरिंग में सहायता के लिए चश्में भी बनाएगी‚ जिसके लिए मैकेनिक के अलग से प्रशिक्षण की आवश्यकता नहीं है‚ इसलिए कोई भी फैक्ट्री में मशीन के दोषों की मरम्मत के लिए मैकेनिक से चश्मा प्रोग्राम से मदद हासिल कर सकेंगे। अब इन साधनों का सैन्य के साथ–साथ असैनिक क्षेत्र में भी लाभ उठाया जा सकता है।

इसी तरह‚ स्मार्ट स्विच कंपनी‚ टच स्विच‚ ने सैन्य के साथ जनता के लिए डिजिटल टच स्विच पेश किए हैं। इन स्विच प्लेटों में कंपनी कमरे की आवश्यकता के अनुसार लाइट‚ पंखा‚ एसी‚ पर्दे आदि खोलने बंद करने की सुविधा देती है। कंपनी के उत्पादों का विपणन कीट्रांनिक ‘नाम से किया जाता है। इन स्विच प्लेटों को स्थापित करने के लिए अलग से किसी वायरिंग की आवश्यकता नहीं है।

उपयोगकर्ता सीधे रिमोट से उन्हें संचालित कर सकेंगे। इसके अलावा‚ वह अपने मोबाइल से कनेक्ट कर सकता है और घर के बाहर अन्य शहरों से काम कर सकता है। कंपनी उपयोगकर्ताओं को उनकी आवश्यकता के अनुसार स्विच प्लेट प्रदान करने का भी दावा करती है। यह स्विच प्लेट 68,000 रुपये में उपलब्ध हो सकती है। 

इतिहास में आज का दिन – 6 फरवरी

<

p style=”text-align: justify;”> 

यह भी पढ़ें