ओडिशा के कंधमाल में मुठभेड़, सुरक्षाबलों ने 4 नक्सलियों को मार गिराया, भारी मात्रा में हथियार बरामद

ओडिशा में नक्सलवाद के खिलाफ मुहिम में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। ओडिशा के कंधमाल में सुरक्षाबलों ने चार नक्सलियों को मार गिराया। मुठभेड़ में कई नक्सलियों के घायल होने की भी खबर है।

Naxal Encounter, Kandhmal Encounter

ओडिशा के कंधमाल में 4 नक्सली ढेर।

ओडिशा में नक्सलवाद के खिलाफ मुहिम में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। ओडिशा के कंधमाल में सुरक्षाबलों ने चार नक्सलियों को मार गिराया। मुठभेड़ में कई नक्सलियों के घायल होने की भी खबर है। मरने वालों में 2 महिला नक्सली भी शामिल हैं।

एंटी नक्सल ऑपरेशंस के आईजी अमिताभ ठाकुर ने घटना की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि सुरक्षाबलों को सूचना मिली थी कि कंधमाल जिले के तुमुदिबंध इलाके के सिरला जंगल में नक्सलियों का एक ग्रुप मौजूद है। सूचना के आधार पर स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और जिला पुलिस के जवानों ने 4 जुलाई को जॉइंट ऑपरेशन शुरू किया। 5 जुलाई की सुबह, जंगल में सुरक्षाबलों का नक्सलियों से सामना हो गया। जवानों ने नक्सलियों को सरेंडर करने के लिए कहा जिस पर नक्सलियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में जवानों ने चार नक्सलियों को मार गिराया। घटनास्थल से भारी मात्रा में हथियार भी बरामद हुए हैं।

Naxals, Kandhmal Encounter
घटना की जानकारी देते ओडिशा के डीजीपी अभय।

बताया जा रहा है कि नक्सली सुरक्षाबलों के खिलाफ किसी बड़े हमले की तैयारी कर रहे थे। उनका मकसद, सरकारी संस्थानों को नुकसान पहुंचाना भी था। लेकिन सुरक्षाबलों की मुस्तैदी के चलते उनका प्लान फेल हो गया।

4 दिन में CRPF के जवानों पर दूसरा आतंकी हमला, IED हमले में एक जवान घायल

बताया जा रहा है कि मौके पर 35-40 हथियारबंद नक्सली थे, लेकिन सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई के चलते बाकी नक्सली भाग निकले। घटना स्थल से मैगजीन के साथ 3 SLR, मैगजीन के साथ एक इंसास रायफल, 2 देसी कट्टा, SLR के 16 जिंदा कारतूस, इंसास के 2 कारतूस, 8 हैवरसेक, 5 सोलर प्लेट, 4 रेडियो सेट, 11 छाते, एक बैटरी, एक वॉकी टॉकी और उसका चार्जर, एक 12 वोल्ट और एक 6 वोल्ट की बैटरी, 5 पानी के जार, नक्सल साहित्य, बड़ी मात्रा में दवाएं, बिजली का तार, शुगर की जांच करने वाला किट, छोटा इनवर्टर, इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट सेट समेत कई जरूरी सामान बरामद हुआ है। जवान अभी भी तलाशी अभियान में जुटे हैं।

मुठभेड़ में मारे गए सभी नक्सली कालाहांडी कंधमाल बौध, नयागढ़ (केकेबीएन) डिविजन के थे। इसी केकेबीएन डिविजन के नक्सलियों ने पिछले लोकसभा चुनाव में ईवीएम समेत चुनाव का सामान ले जा रही दो गाड़ियों में आग लगा दिया था।

Kandhmal Encounter, Naxals
डीजीपी अभय, INTT के निदेशक सत्यजीत मोहंती, एडिशन डायरेक्ट इंटेलिजेंस आर के शर्मा, स्पेशल ऑपरेशन के आईजी अमिताभ ठाकुर, सदर्न रेंज के डीआईजी सत्यब्रत भोई, स्पेशल इंटेलिजेंस विंग के डीआईजी अनिरुद्ध सिंह और कंधमाल के एसपी प्रतीक गीता सिंह।

दरअसल, सुरक्षाबलों की मुस्तैदी के चलते, आंध्र-ओडिशा बॉर्डर पर कोरापुट और मलकानगिरी जिलों में पिछले छह महीने से माओवादी बैकफुट पर हैं। स्वाभिमान अंचल को मलकानगिरी से जोड़ने वाले पुल का निर्माण होने के बाद माओवादियों के लिए बचकर निकलना मुश्किल हो गया है। दक्षिणी ओडिशा सीमाओं पर प्रभाव कम होने की वजह से माओवादी गंजाम-कंधमाल-कालाहांडी सीमाओं पर अपनी गतिविधियों को तेज करने की कोशिश कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें