नक्सलवाद का सच

दंतेवाड़ा के ग्राम गुमियापाल के 14 नक्सलियों ने गुरुवार को किरंदुल थाने में सरेंडर किया है। इनमें से 2 नक्सली 1-1 लाख रुपए के इनामी हैं।

झारखंड में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ लगातार अभियान जारी है। इस बीच डीआईजी, एसपी व पुलिस अधिकारियों के साथ डीजीपी ने मैराथन बैठक की है।

इस नक्सली की लंबे समय से पुलिस तलाश कर रही थी। वह 2003 से नक्सली संगठन में सक्रिय था। मंगलवार को दंतेवाड़ा पुलिस ने ज्वाइंट कार्रवाई के तहत उसे पकड़ा है।

महाराष्ट्र में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ अभियान जारी है, फिर भी नक्सली अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।

मंगलवार को थाना गंगालूर से डीआरजी, एसटीएफ एवं कोबरा की संयुक्त टीम सावनार, कुरचोली, इतावर, लेण्ड्रा की ओर सर्च पर निकली थी।

कृष्णा हांसदा उर्फ अविनाश दादा के खिलाफ आतंकवाद का एक मुकदमा चलाने का रास्ता साफ हो गया है क्योंकि राज्य सरकार ने इसकी अनुमति दे दी है।

ताजा मामला गुमला जिले का है। यहां पुलिस ने इनामी नक्सलियों को पकड़ने के लिए अभियान चलाया है और एक एक दर्जन गांवों में छापेमारी की है।

गृह मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले वामपंथी उग्रवाद (एलडब्ल्यूई) प्रभाग ने एक आरटीआई (सूचना का अधिकार) के जवाब में यह जानकारी दी है।

इस दौरान उन्होंने अधिकारियों के साथ मीटिंग की और नक्सलियों के खिलाफ अभियान को और तेज करने के लिए कहा।

माहेश्वरी ने नक्सल प्रभावित पामेड़ का भी दौरा किया और अभियान की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने जवानों और अधिकारियों को सुरक्षा संबंधी निर्देश दिए।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इस बीच बीजापुर में नक्सलियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई है।

राज्य सरकार ने भी इन नक्सलियों से निपटने के लिए कमर कस ली है और राज्य सरकार ने नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में अर्धसैनिक बलों की 6 कंपनियां तैनात करने की मांग की है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली। 3 जनवरी को एंटी नक्सल ऑपरेशन के तहत जवानों ने नक्सलियों (Naxals) की खतरनाक साजिश को नाकाम कर दिया।

मिली जानकारी के मुताबिक, नक्सली टैक्टिकल काउंटर ऑफेंसिव कैंपेन चलाने की कोशिश में हैं। नक्सली जनवरी में ही एक्टिव हो गए हैं।

झारखंड में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है। ऐसे में जो नक्सली जेल में बंद हैं, उन्हें उनके संगठनों ने भी ठेंगा दिखा दिया है।

कोसाम्बा पुलिस स्टेशन के निरीक्षक वीके पटेल ने बताया कि आरोपी की पहचान गुड्डू सिंह के रूप में हुई है। ज्वाइंट कार्रवाई के तहत उसे गिरफ्तार किया गया।

Bastar: बस्तर के आईजी सुंदरराज पी ने साल 2020 की पुलिस की उपलब्धियां गिनाईं और पुलिस द्वारा शुरू किए गए नए अभियानों के संबंध में पत्रकारों को जानकारी दी।

यह भी पढ़ें