Entertainment

दुर्गा खोटे (Durga Khote) की शुरुआत छोटी भूमिकाओं से हुई, लेकिन जल्द ही उन्होंने नायिका की भूमिका निभानी शुरू कर दी और 1932 में प्रदर्शित प्रभात फिल्मस की 'अयोध्येचा राजा' फिल्म ने उन्हें स्थापित कर दिया।

सिद्धार्थ पिठानी ने यह भी दावा किया कि ‘सुशांत (Sushant Singh Rajput) चाहते थे कि उनकी सुरक्षा बढ़ाई जाए। उसने कबूला कि वो 8 जून की शाम थी जब रिया सुशांत का लैपटॉप‚ कैमरा‚ हार्ड डिस्क सबकुछ लेकर चली गई।

नूरजहां (Noor Jehan) अपनी आवाज में हमेशा नये नये प्रयोग किया करती थीं। अपनी इन खूबियों के कारण वो ठुमरी गायकी की महारानी कहलाने लगीं थीँ। इस दौरान उनकी नौकर, जुगनू, दोस्त, दुहाई, बड़ी मां और विलेज गर्ल जैसी कामयाब फिल्में रिलीज हुईं।

महेश भट्ट (Mahesh Bhatt) की एक खासियत है कि वह लोगों को बोल्ड कंटेंट वाली फिल्में दिखाते हैं। उनकी फिल्मों की तरह उनके जीवन में भी अजब-गजब के रिश्ते बने हुए थे।

सीबीआई के अधिकारी इस मसले पर कानूनी सलाह भी ले रहे हैं। फिलहाल सीबीआई की टीम अभी तक सुशांत सिंह (Sushant Singh Rajput) के मसले पर औपचारिक तौर पर कुछ भी कहने से बच रही है।

प्रसून जोशी (Prasoon Joshi) बचपन से ही प्रकृति, सृष्टि सृजित चीजों एवं प्राकृतिक सौंदर्य के प्रति आकर्षित रहे। इसलिए लेखन उनके स्वभाव में स्वत: ही प्रवेश कर गया। बचपन में वे खुद की हस्तलिखित पत्रिका भी निकालते थे और इस प्रकार लेखन उनका शौक बना।

लंबे समय से सुशांत (Sushant Singh) के जिम ट्रेनर रहे अहमद ने पूछताछ में सीबीआई को बताया कि वह ड्रग लेते ही नहीं थे। उनके पूर्व ड्राइवर ने भी कहा कि वह लम्बे समय से सुशांत के साथ थे लेकिन वह ड्रग लेते ही नहीं थे।

रिया (Rhea Chakraborty) ने अपने संपर्क वाले करीब 10 लोगों के नाम का खुलासा किया जो ड्रग सिंडिकेट में उससे जुड़े हैं। इसमें कई नाम फिल्मी दुनिया से हैं तो कुछ नेता भी हैं।

Rhea Chakraborty: रिया की गिरफ्तारी ड्रग पैडलिंग मामले में हुई है। अभी तक रिया से लगातार पूछताछ की जा रही थी। अब उनका मेडिकल और कोरोना टेस्ट कराया जाएगा।

मुंबई पहुंचने के बाद वहां गुजर-बसर करने के लिए यश (Yash Johar) को नौकरी की जरूरत पड़ी। उन्होंने वहां टाइम्स ऑफ इंडिया में एक फोटोग्राफर के असिस्टेंट के तौर पर काम करना शुरू किया।

ऋषि कपूर  (Rishi Kapoor) ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत तब की जब वह किशोरावस्था में ही थे। उन्होंने बाल कलाकार के तौर पर फिल्म मेरा नाम जोकर (1970) में अपने पिता के बचपन की भूमिका के साथ फिल्मी करियार की शुरुआत की।

सुशांत (Sushant Singh Rajput) के दोस्त सिद्धार्थ पीठानी और कुक नीरज के पास सीबीआई की गिरफ्तारी की तलवार पहुंच गई है। लगातार 13 दिनों के पूछताछ में इन लोगों ने 28 बार अपने बयान बदले हैं।

लक्ष्मी-प्यारे (Laxmikant–Pyarelal) ने कल्याणजी-आनंदजी, शंकर-जयकिशन, खय्याम, एस. डी. बर्मन और आर.डी. बर्मन के साथ भी काम किया। पहला ब्रेक बतौर संगीत -निर्देशक फिल्म 'पारसमणि' में उन्हें मिला।

राज खोसला के साथ साधना (Sadhana) की जोड़ी खूब जमी। फिल्म 'वो कौन थी' को भला कौन भूल सकता है। उस फिल्म के सारे गाने हिट हैं। मदन मोहन साहब का संगीत, लता जी की आवाज, राजा मेंहदी अली खान साहब के बोल और साधना जी का अभिनय। सब कुछ कमाल है।

सीबीआई ने रिया (Rhea Chakraborty) से डिज्नीलैंड टू मर्डर मिस्ट्री की हिस्ट्री और मुंबई टू गोवा ड्रग कनेक्शन के बारे में पूछा। इस पर वो अधिकारियों पर ही बरस पड़ी। रिया ने कहा कि सुशांत (Sushant Singh Rajput) की हत्या उसने नहीं की है और न ही कभी ड्रग ली है।

ऐश्वर्या राय बच्चन ने अपने करियर की दो बेहतरीन फिल्म ‘रेनकोट’ और ‘चोखेर बाली’ ऋतुपर्णो (Rituparno Ghosh) के निर्देशन में की। जहां तक अभिषेक बच्चन का सवाल है तो उन्होंने ‘अंतरमहल’ नामक फिल्म में ऋतुपर्णो के साथ काम किया।

विलायत खां (Ustad Vilayat Khan)  से आज के बहुत से नामचीन संगीतकार प्रभावित हैं। बहुत से लोगों को उन्होंने सितार वादन सिखाया भी। इनमें उनके दो पुत्र उस्ताद शुजात खां और हिदायत खां सहित पं. अरविंद पारिख भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें