Wing Commander Abhinandan Varthman: नहीं सुन पाए थे ‘गो कोल्ड, गो कोल्ड…’, पढ़ें कैसे पाकिस्तानी सीमा में पहुंच गए अभिनंदन

भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) द्वारा 26 फरवरी को बालाकोट में घुसकर की गई एयर स्ट्राइक (Balakot Air Strike) के बाद 27 फरवरी, 2019 को पाकिस्तान ने एफ-16 लड़ाकू विमानों से जवाबी हवाई हमला किया था। लेकिन भारतीय वायुसेना ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया था। भारतीय वायुसेना के जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन (Wing Commander Abhinandan Varthman) ने पाकिस्तान के एक एफ-16 लड़ाकू विमान को भी मार गिराया था।

Wing Commander Abhinandan Varthman
विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान (फाइल फोटो)।

इस दौरान अभिनंदन का लड़ाकू विमान मिग-21 दुर्घटनाग्रस्त हो गया था और वो पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके में पहुंच गए थे। पाकिस्तान सेना ने विंग कमांडर अभिनंदन को पकड़ लिया था। हालांकि भारत के दवाब के आगे पाकिस्तान की इमरान खान सरकार को झुकना पड़ा था और अभिनंदन (Wing Commander Abhinandan Varthman) को वापस करना पड़ा था। 1 मार्च, 2019 को भारतीय वायुसेना (Indian Air Force)  के विंग कमांडर अभिनंदन अटारी-वाघा बॉर्डर के रास्ते वतन लौट आए थे।

आखिर अभिनंदन कैसे चले गए पाकिस्तानी सीमा में: लेकिन सवाल उठता है कि कैसे विंग कमांडर अभिनंदन पाकिस्तानी सीमा में प्रवेश कर गए थे? दरअसल, 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले के जवाब में वायुसेना द्वारा 26 फरवरी को बालाकोट में घुसकर एयर स्ट्राइक (Balakot Air Strike) की गई थी।

पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ रहे थे अभिनंदन:  इसके बाद अगले ही दिन पाकिस्तान ने एफ-16 लड़ाकू विमानों से जवाबी हवाई हमला किया था। जिस पर भारतीय वायुसेना ने कार्रवाई करते हुए पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ा था। इस जवाबी कार्रवाई में विंग कमांडर अभिनंदन (Wing Commander Abhinandan Varthman) भी शामिल थे।

नहीं मिल पाए थे वापस लौटने के संदेश: अभिनंदन अपने मिग-21 विमान से पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ रहे थे। इस दौरान उनको अंबाला में स्थित इंट्रीग्रेटेड कमांड सेंटर से वापस लौटने के लिए भेजे गए संदेश नहीं मिल पाए थे। जानकारी के मुताबिक, विंग कमांडर अभिनंदन का विमान मिग-21 पाकिस्तानी वायुसीमा में इसलिए प्रवेश कर गया था क्योंकि इस दौरान वायुसेना (Indian Air Force) के इंट्रीग्रेटेड एयर कमांड एवं कंट्रोल सिस्टम की तरफ से भेजे जा रहे रेडियो संदेश उन तक नहीं पहुंच पाए थे।

पाकिस्तान ने रोक दिया था ‘गो कोल्ड…गो कोल्ड…’ का मैसेज: जांच में सामने आया है कि इस दौरान विंग कमांडर अभिनंदन (Wing Commander Abhinandan Varthman) को अंबाला में स्थित इंट्रीग्रेटेड कमांड सेंटर से वापस लौटने के लिए ‘गो कोल्ड…गो कोल्ड…’ यानी ‘लौट आओ…लौट आओ’ के कई संदेश भेजे गए। इन संदेशों को पाकिस्तानी सेना ने न सिर्फ सुना बल्कि उसे अभिनंदन तक पहुंचने से भी रोक दिया।

पढ़ें: अभिनंदन के खून में है शौर्य, पिता और पत्नी भी रह चुके हैं वायुसेना के ऑफिसर

अभिनंदन का विमान हो गया था दुर्घटनाग्रस्त: इस कारण से अभिनंदन पाक वायुसेना के एफ-16 विमान का पीछा करते हुए पाकिस्तानी वायुसीमा में प्रवेश कर गए। जहां उनका विमान दुर्घटना का शिकार हो गया और वह पाकिस्तानी सेना के द्वारा पकड़े गए। इसके बाद एक विडियो वायरल हुआ जिसमें अभिनंदन पाकिस्तानी सेना के कब्जे में दिख रहे थे। उन्हें चोटें लगीं थीं।

वीडियो में दिखा अभिनंदन का शौर्य: इसके बाद एक और विडियो सामने आया था, जिसमें वे चाय पी रहे थे और पाकिस्तानी सेना के जवान उनसे पूछ रहे थे कि चाय कैसी है? जिसपर अभिनंदन ने जवाब दिया- अच्छी है। फिर, उनसे नाम पूछा गया। उसके बाद उनसे कुछ और जानकारी मांगी गई। जिसपर बड़े ही शांत मन और आत्मविश्वास के साथ अभिनंदन ने कहा था- माफ कीजिए, मैं यह जानकारी आपको नहीं दे सकता।

अपने हर मूव से भारत को किया गौरवान्वित: इस पूरे वाकये के दौरान जांबाज अभिनंदन के चेहरे पर कोई सिकन नहीं थी। वे सीना ताने, गर्व के साथ भारत के एक सच्चे वायुवीर की तरह दिखे। उनकी हर बात, उनके हर शब्द और उनकी हर मूव भारत को गर्व की अनुभूति करा रही थी। इस विडियो के बाद भारत ने अपने जांबाज को वतन वापस लाने के लिए तत्काल कार्रवाई शुरू कर दिया और 1 मार्च, 2019 को वे वापस आ गए थे।

केंद्र सरकार को दी गई रिपोर्ट में जिक्र: बालाकोट एयर स्ट्राइक (Balakot Air Strike) के बाद वायुसेना उप-प्रमुख ने केंद्र सरकार को इस घटना की पूरी रिपोर्ट भेजी थी। इस रिपोर्ट में उस समय हुई पूरी घटना को समझाया गया था।

पढ़ें: कुशल पायलट के साथ-साथ एक बेहतरीन वक्ता भी हैं विंग कमांडर अभिनंदन 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here