War of 1965: भारतीय सेना ने पाकिस्तान में घुसकर पहाड़ियों पर किया था कब्जा, पढ़ें शौर्यगाथा

भारत और पाकिस्तान के बीच 1965 में लड़े गए युद्ध में भारतीय सेना (Indian Army) ने पाकिस्तान में घुसकर उसकी पहाड़ियों पर कब्जा कर लिया था। भारतीय सेना के इस कदम से पाकिस्तानी सेना बुरी तरह से घबरा गई थी।

War of 1965

File Photo

War of 1965: पाकिस्तान और भारत की भिडंत आजादी के बाद से अबतक चार बार हो चुकी है। पाकिस्तान ने हर बार हार का ही सामना किया है।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1965 (War of 1965) में लड़े गए युद्ध में भारतीय सेना (Indian Army) ने पाकिस्तान में घुसकर उसकी पहाड़ियों पर कब्जा कर लिया था। भारतीय सेना के इस कदम से पाकिस्तानी सेना बुरी तरह से घबरा गई थी।

पाकिस्तानी सेना ने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि भारतीय सेना ऐसा कदम भी उठा सकती है। दरअसल, 5 अगस्त, 1965 के दिन पाकिस्तान ने अपने सैनिकों को जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में पैराशूट के जरिए उतारा था। भारतीय सेना इस कायराना हरकत पर कैसे चुप बैठती? बदले में बड़ी प्लानिंग की गई।

Bihar: राजगीर के इस CRPF कैंप के जवान कोरोना की जंग में निभा रहे अहम भूमिका, कर रहे ये काम

तय हुआ कि हमारे जवान पाकिस्तान की सरजमीं पर धावा बोलेंगे। फिर क्या था 15 अगस्त को भारतीय सेना ने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर उसकी पहाड़ियों पर कब्जा कर लिया था। इस कदम के बाद पाकिस्तान बौखला गया था और उसे मुज्जफराबाद को खोने का डर सताने लगा था। हमारे वीर जवानों ने कश्मीर में आठ किलोमीटर तक अंदर घुसकर हाजी पीर दर्रा पर कब्जा कर लिया था।

धीरे-धीरे पाकिस्तान को समझ आ गया था कि वह इस युद्ध में भारत से नहीं जीत सकता। लिहाजा 17 दिन तक चले इस युद्ध (War of 1965) में पाकिस्तान को हार का मुंह देखना पड़ा था। पाकिस्तान, भारत को हर मोर्चे पर कमजोर मान रहा था।

ये भी देखें-

पाकिस्तान ने सोचा था कि 1962 में चीन के हाथों मिली हार के बाद भारत कमजोर पड़ चुका है। पाकिस्तान की यह भूल उसे सबसे ज्यादा भारी पड़ गई। जंग हुई और पाकिस्तान को भारी नुकसान झेलना पड़ा। पाकिस्तान और भारत की भिडंत आजादी के बाद से अबतक चार बार हो चुकी है। पाकिस्तान ने हर बार हार का ही सामना किया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें