दुश्मनों की नजर से बचने के लिए छिपने के अलग-अलग तरीके अपनाते हैं जवान, मौका मिलते ही टूट पड़ते हैं

Indian Army: जवान जंगलों में बंकर बनाकर रहते हैं। बंकर किसी भी हमले से तो बचाता ही है साथ ही दुश्मनों को इन बंकरों को ढूंढना भी आसास नहीं होता।

terrorists

Indian Army: जवान जंगलों में बंकर बनाकर रहते हैं। बंकर किसी भी हमले से तो बचाता ही है साथ ही दुश्मनों को इन बंकरों को ढूंढना भी आसास नहीं होता।

भारतीय सेना (Indian Army) के जवान दुश्मनों पर पैनी नजर बनाए रखने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाते हैं। जब जवान दुश्मनों के इलाके में होते हैं या सीमा के नजदीक होते हैं तो छिपकर दुश्मनों की हर गतिविधि पर नजर रखते हैं। जवान कभी भी ड्यूटी के दौरान अपनी तकलीफ का जिक्र नहीं करते। उनका हर दिन चुनौतीपूर्ण होता है, मगर कभी भी हार नहीं मानते।

जिस तरह गिरगिट अलग-अलग जगहों के हिसाब से रंग बदल लेता है, ठीक उसी तरह हमारे जवान भी अपनी वेशभूषा बदल लेते हैं। मसलन अगर जवान घने जंगलों में दुश्मनों की नजर से बचना चाहते हैं तो वे पेड़ पौधों को अपने बदन पर चिपका लेते हैं। इस तरह दुश्मनों को भनक भी नहीं पड़ती।

1967 में चीनी सेना का भारतीय जवानों से हुआ था सामना, इस तरह मच गई थी खलबली

इसी तरह अगर जवान नदी के किनारे हैं तो वह किसी ऐसी जगह पर छिप जाते हैं जहां पर उन्हें ढूंढा ना जा सके। इसके अलावा जवान जंगलों में बंकर बनाकर रहते हैं। बंकर किसी भी हमले से तो बचाता ही है साथ ही दुश्मनों को इन बंकरों को ढूंढना भी आसास नहीं होता।

ये भी देखें-

बंकर एक रक्षात्मक सैन्य किलेबंदी है जिसे लोगों और मूल्यवान सामग्रियों को गिरने वाले बम या अन्य हमलों से बचाने के लिए डिजाइन किया जाता है। बंकर ब्लॉक के विपरीत और भूमिगत होते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें