इस तरह हुआ कश्मीर दो भागों में विभाजित, जानें क्या थी वजह

एक पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर यानी पीओके दूसरा भारत के कब्जे वाला कश्मीर। इसके बाद 1950 में भारत-पाक विषम परिस्थितियों में थे, तो मौके का फायदा उठाकर चीन ने पूर्वी कश्मीर पर धीरे-धीरे नियंत्रण कर लिया।

Kashmir

एक पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (Kashmir) यानी पीओके (PoK) दूसरा भारत के कब्जे वाला कश्मीर। इसके बाद 1950 में भारत-पाक विषम परिस्थितियों में थे, तो मौके का फायदा उठाकर चीन ने पूर्वी कश्मीर पर धीरे-धीरे नियंत्रण कर लिया।

भारत और पाकिस्तान के संबंध बंटवारे (Partition) के बाद से ही कभी कुछ खास नहीं रहे। दोनों देशों के बीच अबतक चार युद्ध लड़े जा चुके हैं। आखिरी युद्ध 1999 में लड़ा गया था तो पहला युद्ध 1947-48 के दौरान लड़ा गया था। पाकिस्तान सुधरने को राजी नहीं है।

पाकिस्तानी की तो पूरी नींव ही धर्म के आधार पर है। बंटवारे के बाद किसे क्या मिलेगा इसपर खूब झगड़ा हुआ। पाकिस्तान, कश्मीर (Kashmir) की चाह रखता है लेकिन आजादी के बाद से अबतक वह इसे हासिल नहीं कर सका है।

आजादी और बंटवारे के दर्द के बीच खून-खराबे का था माहौल, जानें 15 अगस्त, 1947 के दिन की कहानी

पाकिस्तान ने इसके लिए हर वह कदम उठाया है जिससे उसे जीत हासिल हो। पर पाकिस्तानी सेना में वह ताकत नहीं कि भारतीय सेना का डटकर सामना कर सके। 1947 के युद्ध में हार के बावजूद पाकिस्तान ने अपनी हेकड़ी दिखाई थी। हालांकि, बाद में उसने भारत की हर बात मानी थी।

दरअसल, हार के बाद और युद्धविराम की घोषणा के बावजूद पाकिस्तान ने कश्मीर से अपनी सेना को वापस पीछे खींचने से इनकार कर दिया था। युद्धविराम पर सहमत होने के बाद दुश्मन देश ने अपने सैनिकों को निकालने से इनकार कर दिया नतीजन कश्मीर दो भागों में विभाजित (Partition) हो गया।

War of 1962: चीन ने भारत पर हमला क्यों किया था? जानें युद्ध की अनसुनी बातें

एक पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर यानी पीओके (PoK) दूसरा भारत के कब्जे वाला कश्मीर। इसके बाद 1950 में भारत-पाक विषम परिस्थितियों में थे, तो मौके का फायदा उठाकर चीन ने पूर्वी कश्मीर पर धीरे-धीरे नियंत्रण कर लिया।

नतीजन इस इलाके को अक्साई चीन कहा जाता है और इस पर विवाद की स्थिति लगातार बनी रहती है। पाकिस्तान ने 1947 के बाद 1965 में भी कश्मीर को हथियाने के असफल प्रयास किए थे। इसके बाद 1999 में कारगिल युद्ध में भी पाक की नापाक हरकतों को सेना ने नेस्तनाबूद कर दिया था।

ये भी देखें-

पीओके पर पाकिस्तान अपना राजनीतिक जोर लगाता रहा है लेकिन भारत ने हमेशा से इसका विरोध किया है। वहीं जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को निरस्त कर भारत ने इस पूरे क्षेत्र को अपने में पूरी तरह से शामिल कर लिया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें