Pulwama Attack: शहीद के इस सपने को पूरा करना चाहती है पत्नी…

पुलवामा हमले (Pulwama Attack) में शहीद हुए 40 सीआरपीएफ जवानों में यूपी के कन्नौज जिले के प्रदीप सिंह भी शामिल थे। जिले के तिर्वा तहसील क्षेत्र के ग्राम सुखसेनपुर अजान के रहने वाले प्रदीप सिंह पुलवामा हमले में शहीद हो गए थे।

Martyr Pradeep Singh

Martyr Pradeep Singh

पुलवामा हमले (Pulwama Attack) में शहीद हुए 40 सीआरपीएफ जवानों में यूपी के कन्नौज जिले के प्रदीप सिंह भी शामिल थे। वे जिले के तिर्वा तहसील क्षेत्र के ग्राम सुखसेनपुर अजान के रहने वाले थे।पुलवामा हमले में शहीद हुए प्रदीप सिंह (Martyr Pradeep Singh) की पत्नी नीरज देवी मौजूदा समय में कानपुर के कल्याणपुर क्षेत्र में रह रही हैं।

Martyr Pradeep Singh
पुलवामा शहीद की पत्नी।

पुलवामा हमले (Pulwama Attack) में शहीद हुए 40 सीआरपीएफ जवानों में यूपी के कन्नौज जिले के प्रदीप सिंह भी शामिल थे। वे जिले के तिर्वा तहसील क्षेत्र के ग्राम सुखसेनपुर अजान के रहने वाले थे। पुलवामा हमले में शहीद हुए प्रदीप सिंह (Martyr Pradeep Singh) की पत्नी नीरज देवी मौजूदा समय में कानपुर के कल्याणपुर क्षेत्र में रह रही हैं। उनके दो बेटियां 11 साल की सुप्रिया और तीन साल की सोना व एक बेटा प्रतीक है।

पति के सपने को पूरा करना ही जीवन का उद्देश्य

शहीद प्रदीप सिंह (Martyr Pradeep Singh) की पत्नी कहती हैं कि पति बड़ी बेटी को सेना में अफसर बनाना चाहते थे। उनका सपना था कि उनकी तरह बेटी भी देश की सेवा करे, जबकि छोटी बेटी को प्रशासनिक सेवा में देखना चाहते थे। नीरज बतातीं हैं कि हादसे के समय वह गर्भवती थीं। अगस्त में बेटे प्रतीक ने जन्म लिया। जब वो थे, तब बेटा नहीं था। मगर वो हमेशा कहते थे कि बेटा होने पर उसे फाइटर प्लेन का पायलट बनाएंगे। नीरज कहती हैं कि पति का सपना अधूरा नहीं रहेगा। पति के शहीद होने के बाद अब उनका सपना पूरा करना ही जीवन का उद्देश्य है।

पढ़ें: गर्भवती पत्नी और दिव्यांग बहन को बेसहारा छोड़ गए सिवाचंद्रन

यह भी पढ़ें