जम्मू-कश्मीर और पंजाब के रास्ते भारत में दहशत का सामान भेजता है पाकिस्तान, जानें कैसे होता है ये सब

जम्मू-कश्मीर और पंजाब के रास्ते होने वाली ड्रोन के जरिए तस्करी को नाकाम करने के लिए सेना हमेशा अलर्ट पर रहती हैं। बॉर्डर सिक्यॉरिटी फोर्स इसमें अहम भूमिका निभाती है।

Drone

सांकेतिक तस्वीर

Terrorists Groups: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) और पंजाब के रास्ते होने वाली ड्रोन (Drone) के जरिए तस्करी को नाकाम करने के लिए सेना हमेशा अलर्ट पर रहती हैं। बॉर्डर सिक्यॉरिटी फोर्स (BSF) इसमें अहम भूमिका निभाती है।

भारत को अपने पड़ोसी देश चीन और पाकिस्तान से सबसे ज्यादा खतरा रहता है। पाकिस्तान से तो विशेषकर खतरा रहता है। पाकिस्तानी सेना, पाकिस्तान खुफिया विभाग, पाकिस्तान में पनाह लिए आतंकवादी भारत के लिए सबसे बड़ा खतरा है।

पाकिस्तान कब क्या करे दे, इसका भरोस नहीं। भारत में दहशत फैलाने के लिए जम्मू-कश्मीर और पंजाब के रास्ते भारत में दहशत का सामान भेजता है। इसके लिए वह सुरंग का इस्तेमाल करता है या फिर ड्रोन का इस्तेमाल करता है।

सरहद पर इन जगहों को लेकर भारतीय सेना को रहती है चिंता, जानें क्यों

आतंकी समूहों (Terrorists Groups) और आईएसआई की ओर से ड्रग्स और हथियारों की तस्करी के लिए अपग्रेडेड ड्रोन्स का इस्तेमाल किया जा रहा है। लाइन ऑफ कंट्रोल के कई हिस्से बर्फ से ढंके हुए रहते हैं, ऐसे में घुसपैठियों के लिए सीमा पार करना मुश्किल हो जाता है। इस दौरान इनका इस्तेमाल किया जाता है। पाक तस्कर हथियारों को भारतीय तस्करों तक भी पहुंचाते हैं।

जम्मू-कश्मीर और पंजाब के रास्ते होने वाली ड्रोन के जरिए तस्करी को नाकाम करने के लिए सेना हमेशा अलर्ट पर रहती हैं। बॉर्डर सिक्यॉरिटी फोर्स इसमें अहम भूमिका निभाती है। हालांकि पाकिस्तानी तस्कर तस्करी के नए-नए तरीके ढूंढते रहते हैं।

ये भी देखें-

तस्करों के जरिए इस्तेमाल में लाए गए तरीकों का जब पता लगता है तो इन्हें जानकर काफी हैरानी होती है। तस्करों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाती है लेकिन फिर भी तस्करी के मामले सामने आते रहते हैं। हालांकि इसे लेकर सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह अलर्ट रहती हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें