शादी की खुशियां बदलीं मातम में, सेहरा बांधने से पहले ही सीमा पर शहीद हो गए रोहिन कुमार

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पूंछ सेक्टर पाकिस्तान की ओर से किए गए सीजफायर उल्लंघन (Ceasefire Volation) में हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर का जवान शहीद हुआ है। शहीद की पहचान रोहन कुमार (Martyr Rohin Kumar) को तौर पर हुई है।

Martyr Rohin Kumar

शहीद रोहिन कुमार। (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पूंछ सेक्टर पाकिस्तान की ओर से किए गए सीजफायर उल्लंघन (Ceasefire Volation) में हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर का जवान शहीद हुआ है। शहीद की पहचान रोहिन कुमार (Martyr Rohin Kumar) को तौर पर हुई है। वे भारतीय सेना (Indian Army) की 14 पंजाब रेजीमेंट में तैनात थे।

साल 2016 में ज्वॉइन किया था सेना: शहीद रोहिन कुमार (Martyr Rohin Kumar) के पिता का नाम रसील सिंह है। शहीद का परिवार हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के गलोड़ तहसील के गलोड़ खास गांव का रहने वाला है। शहीद रोहिन साल 2016 में भारतीय सेना की 14 पंजाब रेजीमेंट में भर्ती हुए थे। शहीद के पिता रसील सिंह पंजाब के अमृतसर में हलवाई का काम करते हैं।

पाकिस्तान ने फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, सेना का जवान शहीद

नवंबर में होनेवाली थी शादी: शहीद रोहिन कुमार (Martyr Rohin Kumar) की इस साल नवंबर में शादी होने वाली थी। घर में शादी की तैयारियां चल रही थीं। बेटे की शादी के लिए घर वाले खरीदारी में लगे हुए थे। लेकिन बेटे की शहीद होने की खबर मिलते ही सारी खुशियां मातम में बदल गईं। शहीद रोहिन की एक बड़ी बहन हैं, जिनकी कुछ साल पहले शादी हो चुकी है।

शहीद अपने माता-पिता के इकलौते बेटे थे। मां-बाप के बुढ़ापे का सहारा छिन गया। वे बेटे के सिर पर सेहरा बांधने की तैयारी कर रहे थे। पर, वही बेटा अब तिरंगे में लिपटा घर पहुंचेगा। रोहिन के शहीद की खबर से पूरे गांव में मातम का माहौल है।

2 अगस्त को हमीरपुर पहुंचेगा शहीद का पार्थिव शरीर: जिले के एसडीएम नादौन विजय धीमान ने पुष्टि करते हुए कहा कि तहसीलदार के माध्यम से श्रीनगर के पुंछ में जवान रोहिन के शहीद होने की सूचना मिली है। बताया जा रहा है कि सेना मुख्यालय से शहीद रोहिन कुमार (Martyr Rohin Kumar) के घर पर इस बारे में सूचना दी गई है। 2 अगस्त को शहीद का पार्थिव शरीर हमीरपुर पहुंचेगा। जिसके बाद पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

यह भी पढ़ें