कारगिल युद्ध से जुड़ी 6 अहम बातें, जवानों ने कहर बनकर दुश्मनों की तोड़ दी थी कमर

भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में लड़े गए कारगिल युद्ध (Kargil War) में भारतीय सेना (Indina Army) ने जबरदस्त पराक्रम दिखाया था। सेना के जवान दुश्मनों पर कहर बनकर बरसे थे और उनकी कमर तोड़ दी थी।

Kargil War

फाइल फोटो।

Kargil War: वायुसेना ने थल सेना को मदद पहुंचाने के लिए दुश्मनों के कब्जे वाले इलाकों पर बमों की बारिश कर दी थी। बोफोर्स तोपें कारगिल लड़ाई में सेना के खूब काम आई थीं।

भारत और पाकिस्तान के बीच साल 1999 में लड़े गए कारगिल युद्ध (Kargil War) में भारतीय सेना (Indina Army) ने जबरदस्त पराक्रम दिखाया था। सेना के जवान दुश्मनों पर कहर बनकर बरसे थे और उनकी कमर तोड़ दी थी। पाकिस्तानी सेना को इतनी बुरी हार नसीब हुई थी, जिसे यादकर वो आज भी थर्र-थर्र कांप उठते होंगे।

Indo-China War 1962: चीन ने किया था भारत के भरोसे का खून, युद्ध की वो बातें जो शायद आप नहीं जानते

कारगिल युद्ध (Kargil War) में वायुसेना (Indian Air Force) ने भी अहम भूमिका निभाई थी। वायुसेना ने थल सेना को मदद पहुंचाने के लिए दुश्मनों के कब्जे वाले इलाकों पर बमों की वर्षा कर दी थी। इस युद्ध से जुड़ी कुछ बातें हैं, जो हर भारतीय को पता होनी चाहिए-

1. इस युद्ध में कारगिल क्षेत्र में पाकिस्तानी घुसपैठियों के खिलाफ सेना की ओर से की गई कार्रवाई में हमारे 527 जवान शहीद हुए थे और करीब 1,363 घायल हुए थे।

2. पाकिस्तान ने कारगिल के सामरिक रूप से महत्वपूर्ण जगहों पर कब्जा कर लिया। घुसपैठ की जानकारी एक चरवाहे ने सेना को दी थी। चरवाहे ने बताया था कि पाकिस्तानी सेना भारी संख्या में कारगिल में घुस चुकी है।

3. कारगिल युद्ध (Kargil War) को ऑपरेशन विजय के नाम से भी जाना जाता है। यह युद्ध भारत और पाकिस्तान के बीच मई और जुलाई, 1999 के बीच लड़ा गया।

4. करीब 2 महीने तक चली ये जंग 26 जुलाई को खत्म हुई, जिसे हर साल ‘कारगिल विजय दिवस’ (Kargil Vijay Diwas) के रूप में मनाया जाता है।

5. बोफोर्स तोपें कारगिल लड़ाई में सेना के खूब काम आई थीं।

6. भारत के लिए ये युद्ध लड़ना बेहद मुश्किल था क्योंकि पाकिस्तानी सेना ऊंचाई पर थी, जबकि भारतीय सेना को चढ़ाई करते हुए पाकिस्तानी पोस्ट में जाकर दुश्मनों को ढेर करना था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें