Kargil War: 1972 में हुए शिमला समझौते का उल्लंघन कर पाकिस्तान ने दिखा दिया था अपना असली चेहरा, वीर सपूतों ने लिया था बदला

भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में कारगिल युद्ध (Kargil War) लड़ा गया था। इस युद्ध में पाकिस्तान ने भारत को धोखा दिया था। पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय सेना ने बखूबी प्रदर्शन कर जीत हासिल की थी।

Kargil Vijay Diwas

Kargil Vijay Diwas

Kargil War: दोनों देशों के बीच 1972 में हुए शिमला समझौते के तहत तय हुआ था कि ठंड के मौसम में दोनों देशों की सेनाएं जम्मू-कश्मीर में बेहद बर्फीले स्थानों पर मौजूद एलओसी (LoC) को छोड़कर कम बर्फीले वाले स्थान पर चली जाएंगी। 

भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में कारगिल युद्ध (Kargil War) लड़ा गया था। इस युद्ध में पाकिस्तान ने भारत को धोखा दिया था। पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय सेना ने बखूबी प्रदर्शन कर जीत हासिल की थी। यह युद्ध पाकिस्तान के धोखे से शुरू हुआ था।

भारतीय सैनिकों ने धोखे का पूरा बदला लिया था। दरअसल, भारी संख्या में आए पाक सेना के जवानों ने कारगिल के उन क्षेत्रों पर कब्जा कर लिया था, जिन्हें सर्दियों के दौरान भारतीय सेना खाली कर देती है।

War of 1971: बांग्लादेश की आजादी के लिए पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय सैनिकों ने ऐसे दिखाया था पराक्रम

दोनों देशों के बीच 1972 में हुए शिमला समझौते के तहत तय हुआ था कि ठंड के मौसम में दोनों देशों की सेनाएं जम्मू-कश्मीर में बेहद बर्फीले स्थानों पर मौजूद एलओसी को छोड़कर कम बर्फीले वाले स्थान पर चली जाएंगी। शिमला समझौते के तहत यह दोनों देशों ने अपने विवादों को आपसी बातचीत से निपटाया था, लेकिन पाकिस्तान को यह रास नहीं आया था।

पाकिस्तान ने 1999 की सर्दियों में ऐसा नहीं किया। पाकिस्तान ने धोखे से कारगिल के सामरिक रूप से महत्वपूर्ण क्षेत्रों पर कब्जा कर लिया था। पाकिस्तान ऊंचाई पर था जबकि भारतीय सेना चढ़ाई कर उन्हें नेस्तनाबुद करने पहुंची थी।

ये भी देखें-

इस दौरान भारतीय सैनिक शहीद भी हुए, लेकिन जब सैनिक कब्जे वाली पोस्ट पर पहुंचे तो पाकिस्तानी सैनिकों को ढेर कर ही वापस आए। वहीं, कुछ जवान वापस तो नहीं आए लेकिन दुश्मनों को भारी नुकसान जरूर पहुंचाया था। भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में लड़े गए कारगिल युद्ध (Kargil War) में इंडियन आर्मी के जवानों ने अपना पूरा दमखम दिखाया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें