Kargil War 1999: गोलियों की बौछार के बीच चोटियों पर पहुंचना था बेहद चुनौतीपूर्ण, फिर भी जीते हमारे जवान

भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में भीषण युद्ध लड़ा गया था। युद्ध में पाकिस्तान को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा था। पाकिस्तान कश्मीर हड़पने की फिराक में था लेकिन हमारे वीर जवानों के आगे उसका ये सपना कभी पूरा नहीं हो सका।

Kargil War 1999

हथियार ढोने में भी सैनिकों को दिक्कत आ रही थी।

Kargil War 1999: दोनों देश हमेशा की तरह इस दौरान अपनी सेनाएं पीछे हटा लेते हैं। पर 1999 में भारत ने तो ऐसा किया पर पाकिस्तान ने ऐसा नहीं किया।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में भीषण युद्ध (Kargil War 1999) लड़ा गया था। युद्ध में पाकिस्तान को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा था। पाकिस्तान कश्मीर हड़पने की फिराक में था लेकिन हमारे वीर जवानों के आगे उसका ये सपना कभी पूरा नहीं हो सका। सेना ने पाकिस्तानी सेना को भगा-भगाकर मारा।

1999 में पाकिस्तान ने कारगिल के सामरिक रूप से महत्वपूर्ण जगहों पर कब्जा कर लिया था। भारत-पाक सीमा से सटे कारगिल क्षेत्रों में सर्दियों कड़ाके की ठंड पड़ती है। दोनों देश हमेशा की तरह इस दौरान अपनी सेनाएं पीछे हटा लेते हैं। पर 1999 में भारत ने तो ऐसा किया पर पाकिस्तान ने ऐसा नहीं किया।

War of 1965: शकरपारे और बिस्कुट खाकर पाकिस्तान को हराया, दुश्मन को नेस्तनाबूद कर ही लिया दम

पहाड़ों पर लड़ाई हमेशा चोटियों पर होती है। पाकिस्तान ऊंचाई पर था लिहाजा उसके पास ज्यादा मौके और फायदे थे। पाकिस्तान ने ऊंचाई पर स्थित कई ऐसी पोस्ट पर कब्जा कर लिया था जो कि सामरिक रूप से बेहद महत्व रखती थी। ऊंची पहाड़ियों पर दुश्मन को हराने के लिए वायुसेना का बखूबी इस्तेमाल किया गया था।

पाकिस्तानी सेना ऊंचाई से भारतीय सेना पर नजर गढ़ाए रखती थी। लेकिन बावजूद इसके हमारी सेना ने हार नहीं मानी थी। गोलियों की बौछार के बीच में पहाड़ियों की चोटियों पर पहुंचना बेहद चुनौतीपूर्ण था लेकिन फिर भी दुश्मनों को नेस्तनाबुद किया गया। कई ऑपरेशन लॉन्च कर पाकिस्तान को हराया गया। सेना ने इस दौरान रेंगते हुए और चुपके-चुपके रास्तों को पार किया।

ये भी देखें-

कई मौकों पर तो दुश्मनों को मुवमेंट की भनक भी लगी गई थी जिसके बाद फायरिंग में जवान शहीद हुए थे कई घायल भी हुए। जो जवान ऊंचाई पर पहुंचने के बाद दुश्मनों को अपने रडार में लेने में कामयाब हुए उन्होंने ऐसा पराक्रम दिखाया जिसे आज भी याद किया जाता है। खास रणनीति और ताकत के दम पर भारत इस युद्ध में शानदार जीत हासिल करने में कामयाब हुआ था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें