Kargil Vijay Diwas 2019: कारगिल विजय दिवस पर शेयर किए जा रहे देशभक्ति संदेश

Kargil Vijay Diwas 2019: आज कारगिल युद्ध की बीसवीं बरसी है इस दिन को पूरे देश में कारगिल विजय दिवस के रूप में बड़े ही गर्व के साथ मनाया जाता है। भारत ने 1999 में करगिल युद्ध के दौरान 26 जुलाई को जीत हासिल की थी। भारत और पाकिस्तान के बीच ये युद्ध 60 दिन तक चला था ।

Kargil War

फाइल फोटो।

Kargil Vijay Diwas 2019: “शहीदों के मजारों पर लगेंगे हर बरस मेले, वतन पे मरने वालों का बाकी यही निशां होगा…”
आज मेला लगा है भारत पाकिस्तान के बीच हुए सबसे बड़े संघर्ष कारगिल युद्ध के शहीदों के मज़ारों पर। आज कारगिल युद्ध की बीसवीं बरसी है इस दिन को पूरे देश में कारगिल विजय दिवस के रूप में बड़े ही गर्व के साथ मनाया जाता है। भारत ने 1999 में करगिल युद्ध के दौरान 26 जुलाई को जीत हासिल की थी। भारत और पाकिस्तान के बीच ये युद्ध 60 दिन तक चला था। भारत ने इस युद्ध में पाकिस्तान को धूल चटा कर विजय हासिल की थी।

तभी से हर साल 26 जुलाई को ‘विजय दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। भारत और पाकिस्तान के बीच हुए इस युद्ध में भारतीय सेना के 527 जवान शहीद हुए थे और करीब 1363 घायल हुए थे। इस लड़ाई में पाकिस्तान के करीब तीन हजार जवान मारे गए थे। आज पूरा देश अपने वीर योद्धाओं को याद कर रहा उनको नमन कर रहा है। फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर और सोशल मीडिया के सभी प्लेटफॉर्म पे शहीदों को नमन करते हुए शायरी, फोटो और कोट्स शेयर किए जा रहे हैं।

1- शमा-ए-वतन की लौ पर जब कुर्बान पतंगा हो
होठों पर गंगा हो और हाथों में तिरंगा हो…

2- गर्द-ओ-ग़ुबार याँ का ख़िलअत है अपने तन को
मर कर भी चाहते हैं ख़ाक-ए-वतन कफ़न को…

3- वतन की ख़ाक से मर कर भी हम को उन्स बाक़ी है
मज़ा दामान-ए-मादर का है इस मिट्टी के दामन में…

4- नाक़ूस से ग़रज़ है न मतलब अज़ाँ से है
मुझ को अगर है इश्क़ तो हिन्दोस्ताँ से है…

5- रज़्म को बज़्म समझते हैं ये मरदान-ए-वतन
शाहिद-ए-मर्ग है उन के लिए चौथी की दुल्हन…

6- वक़्त आने पर बता देंगे तुझे ए आसमां
हम अभी से क्या बताएं क्या हमारे दिल में है
ऐ शहीदे मुल्क़ों मिल्लत तेरे जज़्बे के निसार
तेरी कुरबानी का चरचा ग़ैर की महफ़िल में है…

7- वतन है हमारा है शादकाम और आज़ाद
हमारा क्या है अगर हम रहें न रहें…

8- लहू वतन के शहीदों का रंग लाया है,
उछल रहा है ज़माने में नाम-ए-आज़ादी…

9-ज़िंदगी जब तुझको समझा, मौत फिर क्या चीज है,
ऐ वतन तू हीं बता, तुझसे बड़ी क्या चीज है…

10-ऐ मातृभूमि तेरी जय हो, सदा विजय हो,
प्रत्येक भक्त तेरा, सुख-शांति-कान्तिमय हो…

पढ़ें: जब कैप्टन विक्रम बत्रा ने कहा, ‘ये दिल मांगे मोर…’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें