भारत और पाकिस्तान के बीच पहला युद्ध क्यों और कब हुआ? यहां जानें

हरि सिंह ने देर से ही सही लेकिन भारत को कश्मीर में मिलाने के लिए हामी भरी तो देखते ही देखते भारतीय सेना कश्मीर पहुंची और दुश्मनों को भगा-भगाकर मारना शुरू किया।

Pakaistan

(फाइल फोटो)

आजादी के बाद से अबतक भारत और पाकिस्तान (Pakistan) जंग के मैदान कई बार टक्कर ले चुके हैं। इंडियन आर्मी ने हर बार पाक सेना को हराया है। पाकिस्तानी सेना जब-जब हमारे जवानों के सामने आई है मजबूरन घुटने टेक कर ही वापस लौटी है। सेना के जवानों का शौर्य इतना खतरनाक है जिसे यादकर पाक सेना आज भी कांप उठती होगी। भारत और पाकिस्तान के बीच पहला युद्ध 1947-48 के बीच हुआ था।

युद्ध की वजह थी आजादी के बाद भारत का कश्मीर (Kashmir) में शामिल होना। 1947 के बाद जैसे ही राजा हरि सिंह ने भारत को कश्मीर का हिस्सा बनाने के लिए हस्ताक्षर किए तो सरकार ने कश्मीर में इंडियन आर्मी को भेज दिया था। हरि सिंह के हस्ताक्षर करने से पहले ही पाकिस्तानी सेना कश्मीर के कई हिस्सों पर कब्जा कर चुकी थी और धीरे-धीरे अन्य इलाकों को हड़पने की फिराक में थी। 1947 के बाद पाकिस्तानी सेना छोटी-छोटी टुकड़ियों में आती और हार का सामना करती। सेना हर बार दुश्मनों के नापाक मंसूबों पर पानी फेर देती।

ये भी पढ़ें- दंतेवाड़ा में नक्सलियों के निशाने पर जनप्रतिनिधि और पत्रकार, पुलिस हुई चौकन्नी

हरि सिंह ने देर से ही सही लेकिन भारत को कश्मीर में मिलाने के लिए हामी भरी तो देखते ही देखते भारतीय सेना कश्मीर पहुंची और दुश्मनों को भगा-भगाकर मारना शुरू किया। अक्टूबर 1947 से शुरू हुए इस संघर्ष का समापन 1 जनवरी 1949 में दोनों देशों के बीच हुए शांति समझौते से हुआ।

युद्ध में भारतीय सेना ने कारगिल और आस-पास के सभी पहाड़ियों पर कब्जा कर लिया था। इस युद्ध में करीब 1500 भारतीय मारे गए और करीब 3500 घायल हो गए। वहीं करीब 6000 पाकिस्तानियों की युद्ध में जान गई और करीब 14 हजार घायल हो गए थे। 

ये भी देखें- 

यह भी पढ़ें