भारत-चीन सीमा पर हो चुकी है कई बार भिड़ंत, पर इस वजह से फायरिंग नहीं करते हमारे वीर सपूत

भारत और चीन के बीच सीमा पर कई बार भिड़ंत हो चुकी है। पिछले साल जून महीने में भी चीनी सेना ने भारतीय जवानों पर हमला कर दिया था जिसमें 20 सैनिक शहीद हो गए थे।

India China Conflict

Galwan Valley

India China Conflict: भारत और चीन के बीच सीमा पर कई बार भिड़ंत हो चुकी है। पिछले साल जून महीने में भी चीनी सेना ने भारतीय जवानों पर हमला कर दिया था, जिसमें 20 सैनिक शहीद हो गए थे।

भारत और चीन के बीच बीते कुछ समय में सीमा पर विवाद (India China Conflict) काफी बढ़ता जा रहा है। चीन विस्तारवाद की नीति पर चलकर अपना दायरा बढ़ाने की विचारधारा को अपनाए रखता है। यही वजह है कि दोनों देशों के बीच तय सीमा पर लगातार विवाद बढ़ता जा रहा है। चीन भारतीय इलाकों को अपना बताकर उनपर निर्माण कार्य करता है, जिसका भारतीय सेना कड़ा विरोध करती आई है।

भारत और चीन के बीच सीमा पर कई बार भिड़ंत ((India China Conflict)) हो चुकी है। पिछले साल जून महीने में भी चीनी सेना ने भारतीय जवानों पर हमला कर दिया था, जिसमें 20 सैनिक शहीद हो गए थे। पत्थर, लाठी और धारदार चीजों से हमले किए गए थे।

इंसास राइफल के नाम से कांप उठते हैं दुश्मन, जानें इसकी खासियत

लेकिन हमारी सेना चाहकर भी दुश्मनों पर फायरिंग नहीं कर सकी थी। ऐसा इसलिए क्योंकि 1993 में दोनों देशों के बीच एक समझौता हुआ था। इसी समझौते की वजह से भारत पहले फायरिंग नहीं कर सकता।

दरअसल, इस समझौते के तहत तय हुआ था कि दूसरे पक्ष के खिलाफ बल या सेना प्रयोग की धमकी नहीं दी जाएगी और बातचीत से ही किसी भी मसले का हल होगा। यानी सीमा विवाद (India China Conflict) को शांतिपूर्ण तरीके से ही हल किया जाएगा।

ये भी देखें-

20 भारतीय वीर सपूतों की शहादत के बाद इस बात पर काफी जोर दिया गया कि इस समझौते की आड़ में चीन ने हमारा भारी नुकसान कर दिया। हालांकि, बाद में सरकार ने सेना को ‘फ्री हैंड’ कर दिया। यानी सेना अब इस समझौते को दरकिनार कर किसी भी खतरे से निपटने के लिए अपने मुताबिक कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें