अंकुश डोगरा: महज 21 साल की उम्र में हिमाचल के लाल ने देश पर लुटा दी जान

भारत-चीन सीमा (LAC) पर हुई झड़प में हिमाचल प्रदेश का जवान शहीद हो गया है। हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के वीर जवान अंकुश डोगरा (Martyr Ankush Dogra) ने सरहद पर शहादत दी है।

Ankush Dogra शहीद अंकुश डोगरा

शहीद अंकुश डोगरा। (फाइल फोटो)

भारत-चीन सीमा (LAC) पर हुई झड़प में हिमाचल प्रदेश का जवान शहीद हो गया है। हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के वीर जवान अंकुश डोगरा (Martyr Ankush Dogra) ने सरहद पर शहादत दी है। वे जिले के भोरंज के कड़होता के रहने वाले थे। जवान बेटे की शहादत की खबर के बाद से गांव का माहौल गमगीन है।

सैनिक का पार्थिव शरीर आज शाम को गांव पहुंच सकता है। परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है। गांव के लोगों के मुताबिक, शहादत की खबर सुनते ही गांव में शोक की लहर दौड़ गई। हमीरपुर के कड़ोहता गांव में मातम पसर गया है। शहीद के घर पर सांत्वना देने वाले लोगों का तांता लगा हुआ है।

Dexamethasone: बना ली गई COVID-19 की दवा! ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं का दावा

शहीद अंकुश के पिता और दादा भी सेना में सेवाएं दे चुके हैं। अंकुश महज 21 साल के थे। शहीद अंकुश डोगरा (Martyr Ankush Dogra) साल 2018 में पंजाब रेजीमेंट में भर्ती हुए थे। बताया जा रहा है अभी दस महीने पहले ही अंकुश ने ड्यूटी ज्‍वॉइन की थी।

शहीद अंकुश (Martyr Ankush Dogra) का छोटा भाई अभी छठी कक्षा में पढ़ता है। बता दें कि भारत-चीन सीमा पर तनाव बढ़ने के बाद अंकुश डोगरा की पंजाब रेजीमेंट को चीन सीमा पर भेजा गया था।

शहीद कर्नल की मां ने कहा, इकलौता बेटे को खोने का दुख है लेकिन देश के लिए उसकी कुर्बानी पर गर्व

गौरतलब है कि 15 जून को पूर्वी लद्दाख की गलवान वैली में भारत और चीन (India China) की सेना के बीच हुए खूनी संघर्ष में भारत के 20 जवान शहीद हो गए। जिसमे एक कर्नल रैंक के ऑफिसर भी शामिल हैं। वहीं चीन के 43 सैनिकों के हताहत होने की खबर है।

भारतीय सेना (Indian Army) सूत्रों के अनुसार, 15 जून रात गश्त करने गए भारतीय सैनिकों की चीनी सैनिकों से झड़प हो गई थी। जिसमें 3 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे और 17 जवान घायल हो गए थे। जो बाद में एलएसी (LAC) पर तापमान कम होने के कारण शहीद हो गए।

यह भी पढ़ें