Balakot Air Strike Anniversary: वायुसेना के पराक्रम की कहानी, पाकिस्तान में घुसकर जैश के ठिकानों को किया था तबाह

भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) ने पिछले साल आज ही के दिन पाकिस्तान (Pakistan) के बालाकोट (Balakot) में घुस एयर स्ट्राइक कर आतंकी कैंपों को ध्वस्त किया था।

Balakot Air Strike

फाइल फोटो

आज बालाकोट एयर स्ट्राइक (Balakot Air Strike) की पहली एनिवर्सरी है। भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) ने पिछले साल आज ही के दिन पाकिस्तान (Pakistan) के बालाकोट (Balakot) में घुस एयर स्ट्राइक कर आतंकी कैंपों को ध्वस्त किया था।

Balakot Air Strike
Locations of Balakot Air Strike

क्या कहा रक्षा मंत्री ने: बालाकोट की पहली वर्षगांठ के मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि बालाकोट हमले के जरिए भारत (India) ने साफ कर दिया है कि वह आतंकवाद (Terrorism) को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक और बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक के बाद भारत ने दुनिया को बता दिया था कि आतंकवाद के खिलाफ भारत की रक्षा के लिए अब हम सीमा पार करने में संकोच नहीं करते हैं।

एक नया और आत्मविश्वास से भरा भारत: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा, “मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने आतंकवाद से मुकाबला करने के तरीकों और भारत के दृष्टिकोण में परिवर्तन लाने में हमारा साहस बढ़ाया। 2016 के सर्जिकल स्ट्राइक और 2019 के बालाकोट एयर स्ट्राइक (Balakot Air Strike) इस बदलाव के गवाह हैं। यह निश्चित रूप से एक नया और आत्मविश्वास से भरा भारत है।”

भारतीय वायु सेना को सलाम: रक्षा मंत्री ने एक और ट्वीट कर कहा कि मैं भारतीय वायु सेना को सलाम करता हूं, जिन्होंने बालाकोट में हवाई हमलों के दौरान बेजोड़ बहादुरी और साहस का प्रदर्शन किया। पहले की सरकारों ने इस पर अलग दृषिकोण अपनाया था लेकिन अब हम आतंकवाद के खिलाफ भारत की रक्षा के लिए सीमा पार करने में संकोच नहीं करते हैं।

उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, भारत ने आज बालाकोट हवाई हमले की पहली वर्षगांठ मना रहा है। यह भारतीय वायुसेना की ओर से साहस के साथ शुरू किया गया एक सफल काउंटर टेरर ऑपरेशन था। बालाकोट हवाई हमलों की सफलता के साथ भारत ने स्पष्ट रूप से आतंकवाद के खिलाफ अपनी मजबूत इच्छाशक्ति का प्रदर्शन किया है।

वायुसेना प्रमुख ने उड़ाया मिग-21: वहीं, बालाकोट एयरस्ट्राइक का एक साल पूरे होने के मौके पर 26 फरवरी को वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदोरिया ने खुद मिग-21 विमान उड़ाया। एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने आज श्रीनगर एयरबेस में 51 स्क्वाड्रन कमांडिंग ऑफिसर ग्रुप कैप्टन नजीर के साथ मिराज-2000 और सुखोई-30 एमकेआई विमानों के साथ मिशन के लिए उड़ान भरा।

‘घुसकर मारेंगे’: बालाकोट एयरस्ट्राइक की पहली एनिवर्सरी पर पूर्व वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा कि एक साल बीत चुका है और हम संतुष्टि के साथ पीछे मुड़कर देखते हैं। हमने बहुत कुछ सीखा है, बालाकोट के संचालन के बाद बहुत सारी चीजें लागू की गई हैं। उन्होंने आगे कहा कि हम संदेश देना चाहते थे कि हम ‘घुसकर मारेंगे’ चाहे आप कहीं भी हों। हम उनपर अपने क्षेत्र से भी हमला कर सकते थे।

अधिक विनाशकारी तरीके से जवाब देंगे: बीएस धनोआ ने कहा, मूल रूप से, यह हमारे ऑपरेशन करने के तरीके में एक बदलाव है। दूसरे पक्ष ने कभी नहीं माना कि हम पाकिस्तान के अंदर चल रहे एक आतंकी प्रशिक्षण शिविर पर स्ट्राइक कर सकते हैं, जिसे हमने सफलतापूर्वक अंजाम दिया। उन्होंने आगे कहा कि बालाकोट हवाई हमले (Balakot Air Strike) के बाद पूरे भारतीय चुनावों में कोई बड़ा आतंकवादी हमला नहीं हुआ क्योंकि वे डर गए थे कि हम फिर से उसी तरीके से या उससे भी अधिक विनाशकारी तरीके से जवाब देंगे।

लिया था पुलवामा हमले का बदला: बता दें कि 26 फरवरी, 2019 को भारतीय वायुसेना के मिराज विमानों ने पाकिस्तान के बालाकोट जाकर आतंकवादी गुट जैश-ए-मोहम्मद के कैंपों को तबाह किया था। भारत ने पाकिस्तान से 14 फरवरी, 2019 को हुए पुलवामा हमले में शहीद 40 जवानों की शहादत का बदला 26 फरवरी, 2019 के दिन तड़के 3.30 बजे बालाकोट में एयर स्ट्राइक (Balakot Air Strike) कर लिया था। भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने बालाकोट में घुसकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को नष्ट कर दिया था। इसमें कई आतंकी मारे गए।

गिराए गए 1000 किलो के बम: भारतीय वायुसेना के सूत्रों के हवाले से कहा गया था कि 26 फरवरी के तड़के भारतीय लड़ाकू विमान मिराज 2000 के एक समूह ने एसओसी पार कर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आतंकी कैंप पर बमबारी की और उसे पूरी तरह से नष्ट कर दिया। आतंकी कैंप पर 1000 किलो के बम गिराए गए।

विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तानी सेना ने कर लिया था गिरफ्तार: इसके अगले दिन 51 स्क्वाड्रन के विंग कमांडर अभिनंदन (Wing Commander Abhinandan Varthman) ने 27 फरवरी को भारतीय सीमा में घुसे पाकिस्तान के एक एफ-16 को मार गिराया था। एफ-16 का पीछा करते हुए अभिनंदन के मिग-21 बाइसन पर भी हमला हो गया था और उनका विमान पाकिस्तान की सीमा में जा गिरा था। उन्हें पाकिस्तानी सेना ने हिरासत में ले लिया था। हालांकि, अगले दिन ही उन्हें रिहा कर दिया गया था।

पढ़ें: Latest News Live Updates: CISF को मिली बेस्ट मार्चिंग टुकड़ी की ट्रॉफी

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें