1971 की जंग: …जब भारत ने पाकिस्तान के पूर्वी हिस्से पर कब्जा किया, जानें पूरा घटनाक्रम

साल 1971 भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश के लिए बेहद अहम था। 1971 में पूर्वी पाकिस्तान में आजादी का आंदोलन दिन ब दिन तेज होता जा रहा था।

China

भारतीय सेना का एक जवान। (फाइल फोटो)

पाकिस्तानी आर्मी और पश्चिमी पाकिस्तान के नेताओं को यह रास नहीं आया और उन्होंने पूर्वी पाकिस्तान में अत्याचार, रेप, गिरफ्तारी शुरू कर दी। शेख मुजीबुर रहमान पूर्वी पाकिस्तान (बांग्लादेश) की आजादी के आंदोलन को चला रहे थे और पाकिस्तान इसे दबाना चाह रहा था।

पाकिस्तान के खिलाफ भारत ने 1971 में लड़ाई लड़ी थी। इस युद्ध में भारतीय सेना ने पाकिस्तान के पूर्वी हिस्से पर कब्जा कर लिया था। कब्जा करने के बाद बांग्लादेश नाम का देश दुनिया के नक्शे में आया। यानी पाकिस्तान से अलग होकर बांग्लादेश बना। विभाजन के बाद बंगाल का पूर्वी हिस्सा, पूर्वी पाकिस्तान के तौर पर, पाकिस्तान से जुड़ गया और पाकिस्तान के इन दो हिस्सों के बीच भारत की 1200 मीलों की सीमा पड़ती थी ।

साल 1971 भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश के लिए बेहद अहम था। 1971 में पूर्वी पाकिस्तान में आजादी का आंदोलन दिन ब दिन तेज होता जा रहा था। पाकिस्तान में 1970 का चुनाव बांग्लादेश के लिए अहम था। इस चुनाव में बांग्लादेश की आजादी के नायक शेख मुजीबुर रहमान को भारी जीत मिली और वह सरकार बनाने की कवायद में थे। मुजीबुर रहमान को गिरफ्तार कर लिया गया था।

ये भी पढ़ें- राम मंदिर निर्माण के लिए 28 साल से उपवास कर रही है ये बुजुर्ग महिला, अयोध्या जाकर तोड़ेंगी व्रत

पाकिस्तानी आर्मी और पश्चिमी पाकिस्तान के नेताओं को यह रास नहीं आया और उन्होंने पूर्वी पाकिस्तान में अत्याचार, रेप, गिरफ्तारी शुरू कर दी। शेख मुजीबुर रहमान पूर्वी पाकिस्तान (बांग्लादेश) की आजादी के आंदोलन को चला रहे थे और पाकिस्तान इसे दबाना चाह रहा था। पाकिस्तान ने इस आंदोलन को जितना दबाना चाहा ये उतना ही बढ़ता रहा। पूर्वी पाकिस्तान में रेप, लूट, हत्याएं होने लगी तो लोग भारत में शरणार्थी बनकर पश्चिम बंगाल असम में आकर बसने लगे। एक करोड़ से ज्यादा पूर्वी पाकिस्तान के लोग भारत में घुस चुके थे। तत्कालीन पीएम इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान के खिलाफ एक्शन लेने की ठान ली।

युद्ध का आगाज पाकिस्तान के द्वारा कश्मीर के हवाई अड्डों पर हमला करने के बाद हुआ। हालांकि पाकिस्तान के ये हमले बुरी तरह से विफल साबित हुए थे। सेना पहले से अलर्ट थी। पाकिस्तान के हमले के खिलाफ सेना ने जवाबी हमला किया और पाकिस्तान को बुरी तरह विफल कर दिया। भारत ने पूर्वी हिस्से पर कब्जा कर लिया जिसे 6 दिसंबर 1971 को बांग्लादेश नाम के नए देश के नाम से स्वतंत्र घोषित किया गया।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें