यूपी के हाथरस में हुए गैंगरेप (Hathras Gang Rape) में पीड़िता के मौत के बाद पुलिस ने शव का जबरन अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस के इस अमानवीय रवैये से जनता में बौखलाहट है।

आज हम भारतीय सेना (Indian Army) के एक और वीर की कहानी आपको बता रहे हैं। उस शूरवीर का नाम है नायब रिसालदार मोहम्मद अयूब खान (Mohammed Ayyub Khan)।

आज भारतीय सेना (Indian Army) के लेफ्टिनेंट सुरिंदरपाल सिंह सेखों (LT Surinderpal Singh Sekhon) की पुण्यतिथि है। इस वीर ने घायल हालत में भी दुश्मनों से दो-दो हाथ किए थे।

एक खास तरह के केकड़े से कोविड-19 (COVID-19) के लिए एक प्रभावी टीका बनाया जाएगा। हॉर्शू क्रैब (Horseshoe Crab) नाम का जीव कोरोना का टीका बनाने में काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

Kozhikode plane crash: केरल के कोझिकोड में हुए प्लेन क्रैश हादसे में अब तक 18 लोगों के मौत की खबर है। मरने वालों में प्लेन के दोनों पायलट भी शामिल हैं।

कैप्टन संदीप सांखला (Captain Sandeep Shankla) 8 अगस्त, 1991 को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा के जफरखान गांव में आतंकवादियों (Terrorists) से लोहा लेते हुए देश के लिए शहीद हो गए थे।

आज भारतीय सेना (Indian Army)  के एक ऐसे जांबाज का शहादत दिवस है जिसने आतंकियों (Terrorists) से भारत भूमि की रक्षा करते हुए अपनी जान कुर्बान कर दी। उस शूरवीर का नाम है कर्नल वसंत वेणुगोपाल (Colonel Vasanth Venugopal)।

प्रथम विश्वयुद्ध (First World War) यूरोप, एशिया और अफ्रीका तीन महाद्वीपों के समुद्र, धरती और आकाश में लड़ा गया था, लेकिन मुख्य रूप से इसे यूरोप का महायुद्ध ही कहा जाता है।

'नक्सलवाद' (Naxalism) सिर्फ देश की आंतरिक सुरक्षा और कानून-व्यवस्था की समस्या नहीं है बल्कि राजनीतिक और आर्थिक समस्या के साथ-साथ एक विकट सामाजिक समस्या भी है।

भारतीय सेना के 'गजराज कॉर्प्स' ने भी विजय दिवस (Kargil Vijay Diwas 2020) के अवसर पर कारगिल शहीदों को नमन किया। तेजपुर में गजराज वार मेमोरियल में लेफ्टिनेंट जनरल शांतनु दयाल ने माल्यार्पण कर कारगिल युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) और तीनों सेनाओं प्रमुखों ने कारगिल विजय दिवस (Kargil Vijay Diwas) के मौके पर पर नेशनल वॉर मेमोरियल (National War Memorial) में शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

Kargil Vijay Diwas: 26 जुलाई को हर साल करगिल दिवस के रूप में मनाया जाता है। मुश्किल परिस्थियों में हमारे जांबाजों ने हिम्मत नहीं हारी और पाकिस्तानी घुसपैठियों को खदेड़कर भगाया था। आज पूरा देश उन वीर शहीदों को नमन कर रहा है, जिन्होंने देश की रक्षा में अपनी जान कुर्बान कर दी थी।

कोरोना वायरस (Coronavirus) ने दुनिया भर में तबाही मचा रखी है। इस वायरस से अमेरिका और यूरोप जैसे विकसित देश भी बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। भारत तो संक्रमण के मामले में दुनिया का तीसरा देश है। बॉलीवुड (Bollywood) भी इससे अछूता नहीं हैं। अब तक कई बड़े सेलिब्रिटीज इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं।

Indian Army: फिल्मों में भी दिखाया जाता है कि जवानों के हाथों में हथियार होता है, वो गोला-बारूद के बीच रहते हैं, आतंकवाद और देश के बाहरी दुश्मनों से लड़ते हैं। लेकिन सेना का एक दूसरा चेहरा भी है, जो फिल्मों में दिखाई जाने वाली सेना से बहुत अलग है।

लद्दाख (Ladakh) में गलवान घाटी (Galwan Valley) में हुई हिंसक झड़प के बाद से ही भारत और चीन के बीच तनाव बना हुआ है। इस बीच भारत ने नियंत्रण रेखा पर माउंटेन कार्प के एकीकृत बैटल ग्रुप (IBG) की तैनाती की है। आईबीजी (IBG) के जवान ऊंचे पहाड़ी इलाकों में युद्ध करने में पारंगत हैं।

सीमा पर हमारा एक जवान भी शहीद होता है तो देश के बच्चे-बच्चे का खून खौल उठता है। सारा देश एक साथ खड़ा हो जाता है, उस सैनिक और उसके परिवार के साथ। पर, कई देश ऐसे हैं जहां के सैनिकों को यह सम्मान नसीब नहीं होता।

Captain Manoj Pandey: कारगिल युद्ध के दौरान कैप्टन पांडेय ने अपने मित्र पवन कुमार मिश्रा को एक खत लिखा था। अपने दोस्त को लिखा वह उनका आखिरी खत था। पवन कुमार मिश्रा ने बाद में उनके एक जीवन पर एक किताब लिखी, जिसका नाम है– 'हीरो ऑफ बटालिक', कारगिल युद्ध 1999।

यह भी पढ़ें