राजनीति के भद्र पुरुष को भावभीनी श्रद्धांजलि

मनोहर पर्रिकर 4 बार गोवा के मुख्यमंत्री रहे, देश के रक्षा मंत्री का पद भी संभाला। पर मजाल कि उनके दामन पर एक भी छींटे आए हों।

Manohar Parrikar

मनोहर पर्रिकर (Manohar Parrikar) अब हमारे बीच नहीं रहे। देश के पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के चार बार मुख्यमंत्री रहे मनोहर पर्रिकर (Manohar Parrikar) का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। वह लंबे समय से कैंसर से जूझ रहे थे।

विशेष बात ये है कि कैंसर से लड़ते हुए भी आखिरी वक्त तक उन्होंने अपनी जिम्मेदारियों से मुंह नहीं मोड़ा। उनका जाना वास्तव में एक अपूर्णीय क्षति है। अपूर्णीय इस लिहाज से कि पर्रिकर साहब जैसे लोग राजनीति में ना के बराबर ही बचे हैं। ये कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी कि शायद ऐसे लोग अब बनना ही बंद हो गए हैं।

सुनिए संजीव श्रीवास्तव की टिप्पणीः

बेहद पढ़े लिखे, सुलझे हुए और बेदाग छवि वाले राजनेता आज की तारीख में एक दुर्लभ प्रजाति बन चुके हैं, ऐसे में उनका जाना ना सिर्फ भारतीय राजनीति बल्कि पूरे देश के लिए एक बड़ा नुकसान है।

यह भी पढ़ेंः देशद्रोही का सर्टिफिकेट देने वालों पर नकेल क्यों नहीं कसी जाती?

यह भी पढ़ें