कहीं फिर से पुलवामा हमला दोहराने की साजिश तो नहीं?

pulwama attack, banihal car blast, jammu kashmir,

जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर 30 मार्च को बनिहाल में हुए धमाके मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। बनिहाल में भी पुलवामा की तरह सीआरपीएफ के ऊपर हमले की साजिश रची गई थी। इस बार इस साजिश के पीछे जैश-ए-मोहम्मद नहीं बल्कि हिज्बुल मुजाहिद्दीन था। इस मामले में रामबन से ओवैस अहमद मलिक को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

गौरतलब है कि 30 मार्च को सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर जम्मू-कश्मीर के रामबन जिले के जवाहर सुरंग के निकट बनिहाल में एक कार धमाका हुआ था। जिस समय ये धमाका हुआ, उस समय सीआरपीएफ का काफिला उधर से गुजर रहा था। इस बार भी पुलवामा अटैक की तरह घटना की प्लानिंग की गई, लेकिन कार में कोई आरडीएक्स नहीं था। घटना के बाद जांच के लिए एनआईए की टीम जवाहर टनल के पास पहुंची। घटनास्थल से बरामद कार के नंबर प्लेट का रजिस्ट्रेशन, कार के इंजन और चेसिस नंबर से नहीं मिला। दरअसल, कार हरियाणा में रजिस्टर्ड थी।

ब्लास्ट से कार के कई हिस्से उड़ गए थे। लेकिन वहां से दो सिलिंडर और जिलेटिन की छड़ें, एमोनियम नाइट्रेट और यूरिया मिला था। एक लेटर भी वहां बरामद हुआ था।

गिरफ्तार आतंकी ओवैस शोपियां का रहने वाला है। पहले वह जैश से जुड़ा हुआ था, लेकिन बाद में हिज्बुल मुजाहिद्दीन में शामिल हो गया। बताया जा रहा है कि शाकिर अहमद पॉल आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन का सदस्य है। वह बीए पास है। इसके अलावा उसने कंप्यूटर एजुकेशन में डिप्लोमा किया है। उससे लगातार पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ें: पुलवामा में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर के 4 आतंकी ढेर

इस घटना के कारण सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। घटना के हर पहलू पर जांच चल रही है और ये भी पता लगाने की कोशिश हो रही है कि कहीं ये पुलवामा जैसा आतंकी हमला दोहराने का ट्रायल तो नहीं था। कहीं आतंकी फिर से किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक़ में तो नहीं हैं? क्योंकि जिस वक़्त यह घटना हुई है उसी वक़्त सीआरपीएफ का काफिला भी उधर से गुजर रहा था।

घटना में संदिग्ध कार ने सीआरपीएफ (CRPF) की बस में टक्कर मारी गई थी, जिससे काफिले के एक वाहन को हल्का सा नुकसान पहुंचा था। पर इस हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ। घटना के बाद मौके से कार का ड्राइवर भागने में सफल हो गया था।

गौरतलब है कि 14 फरवरी को पाकिस्तान समर्थित जैश के आतंकियों ने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला किया था। जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए पाकिस्तान में घुसकर  एयर स्ट्राइक की थी। जिसमें भारतीय वायुसेना ने आतंकियों के कई ठिकानों और लॉन्च पैड्स को को ध्वस्त कर दिया था।

यह भी पढ़ें: सुरक्षाबलों ने फेरा नक्सलियों के मंसूबों पर पानी, लोकसभा चुनाव के दौरान हमले की कर रहे थे साजिश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here