जम्मू-कश्मीर में मुठभेड़, जैश-ए-मोहम्मद का एक और आतंकी मारा गया

Jammu Kashmir, Encounter between terrorists and security forces, Verinag Encounter, Anantnag Encounter, South Kashmir, anantnag, security forces, terrorist encounter, terrorist, terrorism, indian army, crpf, jammu kashmir police, police, national rifle, sirf sach, sirfsach.in

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों का ऑपरेशन जारी है। दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के वेरीनाग में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद का एक आतंकी मारा गया। फिलहाल, उसके अन्य साथियों की धर-पकड़ के लिए अभियान जारी है। जानकारी के अनुसार, सुरक्षाबलों को खबर मिली थी कि जैश-ए-मोहम्मद के 2 से 3 आतंकी अनंतनाग में वेरीनाग के पास नौगाम इलाके में छिपे हुए हैं। इसकी सूचना मिलते ही 8 मई की सुबह सुरक्षाबलों के संयुक्त अभियान दल ने आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चलाया।

जवानों को अपने ठिकाने के करीब आता देख आतंकियों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की। दोनों ओर से गोलीबारी शुरू हो गई। सुरक्षाबलों ने आतंकियों से कई बार सरेंडर करने के लिए भी कहा। लेकिन आतंकियों की तरफ से फायरिंग जारी रही। करीब साढ़े सात बजे आतंकियों की तरफ से गोलीबारी बंद हो गई। उसके बाद जवानों ने आगे बढ़ते हुए घटना स्थल की तलाशी ली। उन्हें वहां गोलियों से छलनी एक आतंकी का शव और हथियार मिले। मारे गए आतंकी की पहचान अनंतनाग के नौपुरा के रहने वाले इकबाल के रूप में हुई।

अधिकारियों के अनुसार, इकबाल के दो और साथियों के वहीं कहीं आस-पास छिपे होने की आशंका है। सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली है। फिलहाल इलाके में तलाशी अभियान जारी है। सीआरपीएफ, सेना की 19 राष्ट्रीय रायफल और जम्मू-कश्मीर पुलिस की एसओजी टीम ने मिलकर आतंकियों के खिलाफ यह ऑपरेशन चलाया। इससे पहले, जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में 4 आतंकी मारे गए थे।

पुलवामा में सर्च ऑपरेशन के दौरान सुरक्षाबलों ने 7 जून को हुए एनकाउंटर में 4 आतंकी मार गिराए। मारे गए चारों आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के हैं। आतंकियों के पास से 2 एके-47, 1 एकेएम, 1 एसएलआर समेत भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद किया गया। सुरक्षाबलों को 6 मई की रात को ही पंजरान लस्सीपोरा इलाके में आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिल गई थी। इसके बाद राष्ट्रीय राइफल्स, स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी), सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस ने जॉइंट ऑपरेशन शुरू किया था।

यह भी पढ़ें: नक्सली देखते रह गए और लक्ष्मण ने खींच दी लकीर, अब डॉक्टर बन करेगा समाज की सेवा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here