पुलवामा में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को उतारा मौत के घाट, हिज्बुल के डिप्टी चीफ को घेरा

Jammu and kashmir, encounter between militants and security forces at Braw Bandina in Awantipur, Braw Bandina in Awantipur, Awantipur, pulwama, sirf sach, sirfsach.in

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों का आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन लगातार जारी है। पुलवामा में सुरक्षाबलों ने एक एनकाउंटर में दो आतंकियों को मार गिराया जबकि हिज्बुल मुजाहिद्दीन के डिप्टी चीफ सैफुल्ला को घेर लिया। 13 जून की सुबह से ही आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ चल रही थी, दोनों ही ओर से लगातार गोलीबारी जारी थी। यह मुठभेड़ पुलवामा के ब्रोबंदिना इलाके में हुई। सुरक्षाबलों को यह सूचना मिली थी कि एक रिहायशी इलाके में कुछ आतंकी छिपे हुए हैं। उन्हें ढूढ़ निकालने के लिए इलाके की घेराबंदी कर छानबीन शुरू की गई।

जानकारी के अनुसार, सेना ने उस मकान को ब्लास्ट कर दिया जिसमें आतंकी छिपे हुए थे। ये आतंकी लश्कर से जुड़े हुए थे। खबरों के मुताबिक, मारे गए आतंकियों में से एक 12 जून को ही आतंकी संगठन में शामिल हुआ था। सुरक्षाबलों की ओर से 55 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ और पुलवामा पुलिस ने मोर्चा संभाला। सेना आस-पास के इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रही है। किसी तरफ की अफवाहों को रोकने के लिए एहतियात के तौर पर पुलवामा में इंटरनेट मोबाइल सेवा निलंबित कर दी गई है।

इससे पहले 12 जून को आतंकवादियों ने अनंतनाग में सीआरपीएफ की टीम पर हमला कर दिया था। अनंतनाग में बस स्टैंड के पास हुए इस हमले में पांच जवान शहीद गए थे, जबकि तीन जवान घायल हो गए थे। शहीद सुरक्षा कर्मियों की पहचान हरियाणा निवासी एएसआई रमेश कुमार, असम निवासी एएसआई निरोद शर्मा, उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर निवासी सतेंद्र कुमार, गाजीपुर निवासी महेश कुमार कुशवाहा, मध्य प्रदेश के देवास निवासी संदीप यादव के रूप में हुई थी। सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया था।

यह भी पढ़ें: नक्सलियों को जड़ से उखाड़ फेंकने की कवायद तेज, इस नए हथियार से लड़ेंगे जवान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here