पाकिस्तान है कि मानता नहीं, अब संयुक्त राष्ट्र महासभा में सुनाएगा अपना दुखड़ा

अब संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में कश्मीर पर अपना पक्ष रखेगा पाकिस्तान

जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर वैश्विक स्तर पर अलग-थलग पड़ चुका पाकिस्तान हार मानने का नाम नहीं ले रहा। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में दाल नहीं गलने के बाद अब पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) में कश्मीर पर अपना पक्ष रखने का फैसला किया है। इनमें अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस के राष्ट्रपति और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री शामिल होंगे। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री इमरान खान संयुक्त राष्ट्र की 74वीं महासभा में देश के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे। उनके साथ विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी होंगे।

पाकिस्तानी नेता महासभा से इतर 35 देशों के प्रतिनिधियों से मुलाकात कर उन्हें ‘कश्मीर के गंभीर हालात’ के बारे में जानकारी देंगे। रिपोर्ट में कहा गया है कि इमरान और कुरैशी न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र के दस अस्थायी सदस्यों, इस्लामी देशों के शासकों और प्रतिनिधियों व कई अन्य देशों के नेताओं से मुलाकात करेंगे। इसमें सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि विदेश सचिव सोहैल महमूद ने पत्र भेजकर इन देशों में नियुक्त पाकिस्तान के दूतों से यहां के अधिकारियों से संपर्क कर न्यूयार्क में होने वाली मुलाकातों को निर्धारित करने के लिए कहा है।

पढ़ें: भारत में सामाजिक सुधार के जनक थे देश के पहले सत्याग्रही

वहीं, भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्षिक सत्र को 27 सितंबर को संबोधित करेंगे। संयुक्त राष्ट्र के 74वें सत्र में वैश्विक नेताओं के संबोधन कार्यक्रम की प्रारंभिक सूची में यह जानकारी दी गई है। इसके अनुसार मोदी 27 सितंबर की सुबह एक उच्च स्तरीय सत्र को संबोधित करेंगे। वक्ताओं की सूची के अनुसार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी 27 सितंबर को वैश्विक नेताओं को संबोधित करेंगे। खान का संबोधन मोदी के संबोधन के कुछ ही देर बाद होगा। महासभा में वक्ताओं की प्रारंभिक सूची के अनुसार करीब 112 राष्ट्राध्यक्ष, करीब 48 शासनाध्यक्ष और 30 से अधिक विदेश मंत्री महासभा को संबोधित करने के लिए न्यूयॉर्क पहुंचेंगे।

जनरल डिबेट 24 सितंबर से 30 सितंबर तक चलेगी। उधर, अंतरराष्ट्रीय मंचों पर फजीहत झेलने के बाद अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में रैली करेंगे। इमरान खान ने एक ट्वीट में कहा, ‘मैं इस शुक्रवार यानी 13 सितंबर को मुजफ्फराबाद में एक बड़ा जलसा करने जा रहा हूं। इसके जरिए मैं पूरी दुनिया का ध्यान कश्मीर पर लाने की कोशिश करूंगा और कश्मीरियों को यह दिखाऊंगा कि हम उनके साथ पूरी तरह खड़े हैं।’

पढ़ें: पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर को भारत का हिस्सा माना, जानिए UNHRC की बैठक में क्या-क्या हुआ…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here