छत्तीसगढ़: कांकेर में हुई खूनी मुठभेड़, सुरक्षाबलों ने 2 नक्सलियों को मार गिराया

chhattisgarh naxal encounter, Chhattisgarh, Kanker, Police, Naxalite, encounter, firing, anti-Naxal operations, sirf sach, sirfsach.in

छत्तीसगढ़ के कांकेर में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। इसमें दो नक्सली मारे गए। 13 जून की रात को राज्य पुलिस की स्पेशल टीम (डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्डस) डीआरजी कांकेर के टाडोकी इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रही थी। इसी दौरान नक्सलियों ने पुलिस की टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने दो नक्सलियों को मार गिराया। आशंका है कि इलाके में और भी नक्सली छिपे हो सकते हैं। सर्च ऑपरेशन जारी है।

नक्सल विरोधी अभियान के डीआईजीपी पी सुंदरराज के अनुसार, पुलिस को कांकेर के टाडोकी थानाक्षेत्र के मुरनार गांव के आस-पास नक्सली मूवमेंट की खबर मिली थी। इसके बाद सर्च ऑपरेशन चलाया गया। ऑपरेशन के दौरान नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। जिसके बाद सुरक्षाबलों ने भी फायरिंग की। दोनों ओर से फायरिंग शुरू हो गई। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो नक्सलियों को मार गिराया। कुछ नक्सली घटनास्थल से भागने में कामयाब रहे, जिनकी तलाश की जा रही है। मारे गए नक्सलियों की पहचान की जा रही है। पुलिस ने यहां से चार हथियार भी बरामद किए हैं, जिनमें दो एसएलआर रायफल्स, एक .303 रायफल और एक .315 रायफल हैं।

इससे पहले राज्य के नक्सल प्रभावित गरियाबंद जिले में नक्सलियों ने तेंदूपत्ता गोदाम में आग लगा दी। इस घटना में नौ करोड़ रुपए के नुकसान की आशंका है। गरियाबंद क्षेत्र के वन मंडल अधिकारी के अनुसार, 11 जून की रात जिले के मैनपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत नवामुड़ा गांव में स्थित तेंदूपत्ता गोदाम में नक्सलियों ने आग लगा दी। तबाह हुए तेंदूपत्ते की कीमत लगभग 9 करोड़ रुपए है। तेंदूपत्ते का उपयोग बीड़ी बनाने में किया जाता है। अधिकारी ने बताया कि उन्हें जानकारी मिली कि लगभग एक दर्जन हथियारबंद नक्सली नवामुड़ा गांव में स्थित तेंदूपत्ता गोदाम पहुंचे थे। नक्सलियों के इस दल में महिला नक्सली भी शामिल थीं। यहां तेंदूपत्ता के तीन गोदाम हैं।

यह भी पढ़ें: अनंतनाग आतंकी हमले में यूपी के दो लाल शहीद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here