अपने दस्ते में शामिल कर करता था लड़की की सप्लाई, सामने आया नक्सलवाद का एक और घिनौना चेहरा

naxal arrested, paschimi-singhbhoom, naxali arrested, PLFI member arrested, girl trafficking, singhbhum girl sold in delhi, jharkhand, West Singhbhum Jharkhand, sirf sach, sirfsach.in

झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले में नक्सली संगठन का एक और घिनौना चेहरा सामने आया है। नक्सलियों द्वारा लड़कियों को जबरन अपने दस्ते में शामिल करने और शोषण की बात सामने आई है। हाल के मामले में गांव की एक लड़की को दिल्ली में ले जाकर बेच देने की बात खुलासा हुआ है। पुलिस ने इस मामले में एक नक्सली को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार नक्सली का नाम सोनू मुंडा है। वह जिले के आनंदपुर इलाके के काड़ेदा का रहने वाला है। 22 वर्षीय सोनू प्रतिबंधित नक्सली संगठन पीएलएफआइ का सक्रिय सदस्य रह चुका है। उसे एक बार जेल भी भेजा जा चुका है। उसके खिलाफ इसी साल एक जून को धारा 370 के तहत मामला दर्ज किया गया था।

मामला इस शिकायत के बाद दर्ज किया गया था कि सोनू ने अपने ही गांव की एक लड़की को दिल्ली में ले जाकर बेच दिया है। शिकायत के बाद पुलिस सक्रिय हुई और लड़की को बरामद किया गया। इस मामले के दर्ज होने के बाद पश्चिमी सिंहभूम के आरक्षी अधीक्षक चंदन कुमार झा ने सोनू की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की एक टीम गठित की थी। टीम ने सक्रियता दिखाते हुए सोनू को दबोच लिया। जिसके बाद उसे अदालत में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। इससे पहले झारखंड पुलिस ने हजारीबाग और गुमला से हथियार के साथ छह हार्डकोर नक्सलियों को गिरफ्तार किया था।

हजारीबाग में इचाक के फूरका जंगल से टीएसपीसी (तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी) के तीन हार्डकोर नक्सली दो देसी कार्बाइन के साथ गिरफ्तार किए गए। वहीं, गुमला के घाघरा में भी जेजेएम (झारखंड जनमुक्ति परिषद) के तीन उग्रवादियों को गिरफ्तार किया गया। हजारीबाग में टीपीसी के हार्डकोर नक्सली अरुण उर्फ रंजीत मंडल, दुनयकलां पदमा का रहले वाला भीम कुमार जायसवाल उर्फ करन और लवालौंग चतरा का रहने वाला सुनील कुमार उर्फ सौरभ पुलिस के हत्थे चढ़ गए। रंजीत मंडल बैजनाथ हत्याकांड में भी शामिल था। अरुण की दोस्त पुनिया देवी भी उनकी सहयोगी थी। उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस के अनुसार पुनिया एक हत्याकांड में भी मुख्य आरोपी थी। उसी के फोन को ट्रेस कर के तीनों पुलिस के हत्थे चढ़े। अरुण पर हत्या, दुष्कर्म, लेवी और अपहरण जैसे कई मामले दर्ज हैं। वह तीन बार जेल भी जा चुका है। इनके पास से दो देसी कार्बाइन, लेवी के 13 हजार रुपये, छह मोबाइल, तीन सेट सेना की वर्दी, कारतूस आदि बरामद किया गया। उधर, गुमला में उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के तीन उग्रवादियों को घाघरा पुलिस ने 8 जून को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। गुमला पुलिस के अनुसार घाघरा हाई स्कूल मैदान में पिछले दिनों ट्रक चालक और खलासी के साथ मारपीट करने के मामले में घाघरा के यज्ञ बगीचा से आनंद उरांव, राहुल कुमार राम और मंटू खान उर्फ शेरु खान को गिरफ्तार किया गया था।

यह भी पढ़ें: बचपन में फिल्म देखने पर होती थी पिटाई, 60 रुपये की बदौलत बने बड़े सुपरस्टार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here