सर्जिकल स्ट्राइक 2: भारत के विदेश सचिव ने की एयर स्ट्राइक की पुष्टि, करीब 300 आतंकी हलाक

Surgical Strike 2, IAF Air Strike, Pulwama Attack

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद हुए 40 सीआरपीएफ जवानों की शहादत का बदला लेने के लिए 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में पल रहे आतंकी कैंपों को एयर-स्ट्राइक कर उड़ा दिया है। तड़के साढ़े तीन बजे वायु सेना के मिराज-2000 विमानों ने पाकिस्तानी क्षेत्र में आतंकी ठिकानों को निशाना बनाते हुए उन्हें तहस-नहस कर दिया। पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारतीय वायुसेना ने नियंत्रण रेखा के भीतर घुसकर पाक-अधिकृत कश्मीर के मुजफ्फराबाद, बालाकोट, चकोटी और खैबर-पख्तूनख्वां में बमबारी की।

भारत के इस एयर स्ट्राइक की जानकारी देते हुए विदेश सचिव वी. के. गोखले ने कहा कि बिना पाक की जानकारी के पुलवामा में आतंकी हमले संभव नहीं हैं। पिछले 2 दशकों से जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान में सक्रिय है। उन्होंने कहा कि भारतीय वायुसेना ने एलओसी के भीतर घुसकर आतंकवादी कैम्पों पर हवाई हमले किए। भारत ने बालाकोट में मौजूद जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने पर हमला किया। इस हवाई हमले में बड़ी संख्या में जैश-ए-मोहम्मद के ट्रेनर और आतंकवादी ढेर हुए हैं। जैश ने संसद पर हमले किए, पठानकोट एयरबेस पर हमले किए। इसके अलावा कई बार जवानों को निशाना बनाया। पर पाकिस्तान हमेशा इससे इंकार करता रहा है। पुलवामा हमला भी जैश ने किया और बिना पाकिस्तान की जानकारी के नहीं किया।

पुलवामा आतंकी हमले के 12 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने नियंत्रण रेखा पार करके आतंकी ठिकानों पर भारी बमबारी की जिसमें आतंकी कैंप बर्बाद हो गए। विदेश सचिव वी.के.गोखले ने कहा कि पुलवामा में हुए फिदायीन हमले में आतंकी संगठन जैश का हाथ था। जैश के प्रमुख मसूद अजहर ने इसे अंजाम दिया था। इससे पहले पठानकोठ में भी जैश ने आतंकी हमला किया था। इन हमलों को लेकर पाकिस्तान को सबूत भी दिए गए, लेकिन पाकिस्तान ने जैश पर कोई कार्रवाई नहीं की।

पाकिस्तान अपने यहां आतंकी संगठनों के मौजूदगी से इनकार करता रहा। गोखले ने बताया कि इंटेलीजेंस को सूचना मिली थी कि जैश के आतंकी फिर से बड़े हमले की फिराक में हैं। ऐसे में भारतीय वायुसेना के मिराज विमानों ने 26 फरवरी की सुबह बालाकोट, पीओके व दूसरे क्षेत्रों में बम बरसाए। जिसमें बड़ी संख्या में आतंकी, ट्रेनर और कमांडर मारे गए। 12 मिराज विमानों ने यह कार्रवाई की और एक हजार किलो बम आतंकी ठिकानों पर बरसाए गए।

भारतीय वायुसेना की कार्रवाई में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के एक दर्जन से अधिक ठिकाने नेस्तनाबूद हो गए हैं। जैश का अल्फा कंट्रोल रुम-3 भी तबाह हो गया है। इस कार्रवाई में जैश के करीब 300 आतंकियों के मारे जाने की सूचना है। पीओके से लेकर पूरे पाकिस्तान में हड़कम्प मच गया है। सूत्रों के मुताबिक, जैश का प्रमुख अजहर मसूद पहले ही सुरक्षित ठिकाने पर भाग गया था। वह पंजाब में छिपा हुआ है।

वीडियो देखेंः

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here