डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव में आई है कमी

डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच अब तनाव में कमी आई है। वाशिंगटन में उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच दो सप्ताह पहले जिस तरह की कटुता देखने को मिली थी उसमें अब कमी आई है। इसके साथ ही ट्रंप ने भारत-पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता का ऑफर एक बार फिर से दोहराया है। हालांकि उन्होंने कहा है कि वे किसी तरह की मध्यस्थता या मदद तभी करेंगे जब दोनों ही देश इसके लिए राजी हों। बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप का यह बयान दो सप्ताह पहले पीएम मोदी से की मुलाकात के बाद आया है। दोनों नेता G7 की बैठक के दौरान मिले थे।

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि सबको पतो है कि भारत औऱ पाकिस्तान के बीच कश्मीर को लेकर शुरू से ही विवाद है। मुझे लगता है कि दो सप्ताह पहले की तुलना में माहौल अब ठीक है। उन्होंने कहा कि मेरी दोनों ही देश से बात हुई है। अगर दोनों देश चाहें तो मैं उनकी मदद कर सकता हूं। डोनाल्ड ट्रंप ने यह बात व्हाइट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए कही। ट्रंप ने व्हाइट हाउस में 8 सितंबर को पत्रकारों से कहा, “मुझे लगता है कि दो सप्ताह पहले दोनों देशों के बीच जैसी हालत थी अब दोनों के बीच तनाव में कमी आई है।” जब ट्रंप से भारत-पाकिस्तान के बीच हालात पर उनका आकलन पूछा गया तो ट्रंप ने कहा कि उनका दोनों ही देशों से अच्छा ताल्लुक है और वे उन्हें मदद करने को भी तैयार हैं।

पढ़ें: PoK में पाकिस्तानी सेना और सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग, ज्यादती का विरोध

ट्रंप ने कहा, “मैं दोनों ही देशों से अच्छा घुलमिल जाता हूं, यदि वे चाहते हैं तो मैं मदद को तैयार हूं, ये बात उन्हें पता हैं, ये ऑफर आज भी है।” गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही डोनाल्ड ट्रंप ने कश्मीर विवाद के निपटारे के लिए दोनों देशों के बीच मध्यस्थ बनने की बात भी कही थी। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच ‘मध्यस्थता’ की पेशकश की थी। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने व्हाइट हाउस में ट्रंप से पहली बार मुलाकात की जहां दोनों नेताओं ने कई मुद्दों पर चर्चा की थी।

लेकिन भारत सरकार ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के उस चौंकाने वाले दावे से इनकार किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें कश्मीर पर मध्यस्थता करने के लिए कहा था। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया था कि हमने अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा प्रेस को दिये उस बयान को देखा है जिसमें उन्होंने कहा था कि यदि भारत और पाकिस्तान अनुरोध करते हैं तो वह कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता के लिए तैयार हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति से इस तरह का कोई अनुरोध नहीं किया है।

पढ़ें: UNHRC में भारत और पाकिस्तान होंगे आमने-सामने, इंडिया करेगा पाक के आतंकी चेहरे को बेनकाब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here