दंतेवाड़ा हमले में बड़ा खुलासा, इस नक्सली ने करवाया था बीजेपी विधायक के काफिले पर हमला

bjp MLA died in naxal attack, dantewada naxal arrack, naxal attack, chhattisgarh, chhattisgarh naxal attack, sirf sach, sirfsach.in

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में 9 अप्रैल को हुए नक्सली हमले को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। इस हमले की जिम्मेदारी कुख्यात नक्सली साईंनाथ ने लिया है। उसने एक पर्चा जारी किया है, जिसमें इस हमले के पीछे उसका हाथ होने की बात कही गई है। साईंनाथ दंडकारण्य स्पेशल जोन और दरभा डिवीजन कमिटी का सचिव है। यह वही नक्सली डिवीजन है जिसने छह साल पहले 25 मई, 2013 को झीरम घाटी में कांग्रेस नेताओं के काफिले पर हमला किया था। इस हमले में पूर्व केन्द्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल, तत्कालीन पीसीसी चीफ नंदकुमार पटेल, बस्तर टाइगर महेंद्र कर्मा, उदय मुदलियार समेत करीब 30 कांग्रेसी नेताओं की मौत हो गई थी।

नक्सलियों का पर्चा

उधर, इस नक्सली हमले में लगभग सौ नक्सलियों के शामिल होने की खबर है। पुलिस ने घटनास्थल से बारूदी सुरंग का स्थान बताने वाला एक जीपीएस भी बरामद किया है। दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधिकारियों के अनुसार, इस घटना के दौरान नक्सली कमांडर विनोद और देवा के नेतृत्व में लगभग सौ की संख्या में नक्सलवादी मौजूद थे। इनमें से लगभग 60 हथियारबंद थे। इस क्षेत्र में माओवादियों की मलांगिर एरिया कमिटी सक्रिय है। इस एरिया कमिटी के साथ हमले में केरलापाल एरिया कमिटी और जगरगुंडा एरिया कमिटी के नक्सली भी शामिल थे।

गौरतलब है कि 9 अप्रैल को बस्तर से भाजपा के विधायक भीमा मंडावी के काफिले पर नक्सलियों ने बड़ा हमला किया था। विधायक चुनाव प्रचार से वापस लौट रहे थे। 9 अप्रैल को पहले चरण के चुनाव प्रचार का आखिरी दिन था। घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने आईईडी ब्‍लास्‍ट किया। धमाका इतना जोरदार था कि विधायक की बुलेट प्रूफ गाड़ी के परखच्चे उड़ गए थे। हमले में लगभग 50 किलेग्राम से भी अधिक आईईडी का इस्तेमाल किया गया था। इस हमले में विधायक, उनके ड्राइवर और तीन जवानों की मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें: बस्तर में बीजेपी का चेहरा रहे भीमा मंडावी का सियासी सफर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here