छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा में दो नक्सलियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

naxali, chhattisgarh, dantewada, naxalite,Arrest,election,police, sirf sach, sirfsach.in, नक्सली, नक्सली गिरफ्तार, छत्तीसगढ़, दंतेवाड़ा, विधानसभा उपचुनाव, पुलिस, सुरक्षा व्यवस्था, नक्सल विरोधी अभियान, जंगल, डीकेएमएस, सीएनएम कमांडर, सिर्फ सच
दंतेवाड़ा में पुलिस ने दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया

छत्तीसगढ़ के धुर नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा में पुलिस ने दो इनामी नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। विधानसभा उपचुनाव की सुरक्षा व्यवस्था हेतु चलाए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान के तहत यह गिरफ्तारी काफी महत्वपूर्ण है। पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव के नेतृत्व में चलाए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान के तहत गश्त पार्टी द्वारा इन नक्सलियों को पकड़ा गया। जानकारी के मुताबिक, पुलिस की टीम गश्त पर निकली थी। इस दैरान माडुम जाने वाले रोड पर रेखा गांव की पहाड़ी के पास से एक नक्सली पुलिस के हत्थे चढ़ गया। गिरफ्तार नक्सली डीकेएमएस अध्यक्ष सन्नू मंडावी है।

वहीं, थाना किरंदुल क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पेरपा चौक में भी एक महिला नक्सली को पुलिस ने धर दबोचा। पकड़ी गई महिला नक्सली सीएनएम कमांडर माड़वी लिंगे है। दोनों गिरफ्तार नक्सलियों पर प्रशासन की तरफ से 1-1 लाख रूपए का इनाम रखा था। गौरतलब है कि विधानसभा उपचुनाव के मद्देनजर नक्सलियों के खिलाफ तलाशी अभियान तेज कर दिया गया है। इससे पहले बीजापुर जिले में बीजापुर पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की संयुक्त पार्टी ने 7 सितंबर को यहां अपहरण और हत्या जैसे संगीन मामलों में आरोपी दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया था। पुलिस के मुताबिक, उसूर पुलिस थाना क्षेत्र के गलगाम गांव के पास एक जंगल से लक्ष्मैया उर्फ लच्छू कट्टम (43) और महिला नक्सली चिम्मा उर्फ चिन्मयी कट्टम (42) को पकड़ा गया। पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल और सीआरपीएफ 229 बटालियन के कमाण्डेंड विवेक भड्राल के अनुसार, दोनों गिरफ्तार नक्सली एक ही परिवार से हैं।

उन दोनों ने स्वीकार किया है कि वे प्रतिबंधित संगठन भाकपा (माओवादी) का हिस्सा हैं। जानकारी के मुताबिक, थाना उसूर से उप निरीक्षक जितेन्द्र जायसवाल के हमराह जिला बल और सीआरपीएफ की सयुंक्त पार्टी नक्सली गस्त सर्चिंग के लिए गलगम की ओर रवाना हुई थी। सर्चिंग के दौरान पुलिसबल को गलगम के जंगलों में दो नक्सलियों को पकड़ने में सफलता मिली। यह दोनों जनमिलिशिया सदस्य के तौर पर नक्सल संगठन में काम कर रहे थे और इन दोनों पर साल 2018 में उसूर थाना क्षेत्र से दो ग्रामीणों को अगुआ कर उनकी हत्या करने का आरोप है। दोनों नक्सलियों को गिरफ्तार कर बीजापुर न्यायालय में पेश किया गया, जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया।

पढ़ें: इमरान खान ने कबूला- पाकिस्तान ने बनाए जेहादी, जम्मू-कश्मीर पर नहीं सुनी तो अमेरिका पर बरसे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here