नक्सलवाद से निपटने के लिए एक साथ काम करेगी बिहार और झारखंड पुलिस

नक्सलवाद पर कड़े प्रहार के लिए तैयार पुलिस

सरकार के साथ प्रशासन भी नक्सलवाद पर कड़ा प्रहार करने की योजना बना रहा है। इसीलिए अब नक्सलियों पर लगाम लगाने के लिए बिहार और झारखंड की पुलिस एक साथ काम करेगी। इसके लिए बिहार के जमुई जिले के चकाई प्रखंड कार्यालय के सभागार में 7 सितंबर को बिहार और झारखंड के वरीय पुलिस पदाधिकारियों की बैठक हुई। जमुई एसपी जे. रेड्डी ने इस बैठक की अध्यक्षता की।

जम्मू-कश्मीर: सोपोर में लश्कर-ए-तैयबा के 8 ग्राउंड वर्कर गिरफ्तार, जारी है पूछताछ

बैठक में जमुई के अलावा नक्सल प्रभावित जिलों बांका, नवादा, झारखंड के गिरिडीह एवं देवघर जिला पुलिस और सीआरपीएफ, एसएसबी, कोबरा आदि के अधिकारियों ने भाग लिया। चार घंटे चली इस बैठक में कई नक्सलियों के लिए खिलाफ अभियान चलाए जाने को लेकर कई रणनीतियों पर चर्चा की गई। बैठक में नक्सल मुक्त क्षेत्र बनाने को लेकर इलाके में चलाए जाने वाले नक्सल-विरोधी अभियानों को लेकर रणनीति बनाई गई।

एसपी श्री रेड्डी के मुताबिक, बैठक में नक्सल गतिविधियों पर काबू पाने को लेकर आपस में चर्चा की गई। सीमावर्ती क्षेत्र को नक्सलमुक्त बनाने के लिये विशेष रणनीति बनाई गई है। नक्सल सूचनाओं का आपस में त्वरित आदान-प्रदान करने, नक्सलियों के आर्थिक स्रोतों पर लगाम लगाने, संयुक्त अभियान चलाने सहित अन्य बिन्दुओं पर चर्चा की गई। गौरतलब है कि पिछले महीने गृहमंत्री अमित शाह ने नक्सल प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की थी। जिसमें नक्सलवह को जड़ से उखाड़ फेंकने की रणनीति पर चर्चा हुई थी।

पढ़ें: सिमडेगा में CRPF ने चलाया जन-जागरण अभियान, शराब है खराब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here