इंडियन एयरफोर्स के हॉस्टल में शिफ्ट किए गए विंग कमांडर अभिनंदन, पहले हुई मेडिकल जांच

wing commander abhinandan iaf pilotWing Commander Abhinandan VarthamanWing Commander AbhinandanAbhinandan shifted to HostelArmy HospitalMedical Test of Abhinandanविंग कमांडर अभिनंदन आईएएउ पायलट अभिनंदन वर्धमानविंग कमांडर अभिनंदन, अभिनंदन का मेडिकल टेस्ट, अभिनंदन

पाकिस्तान के कब्जे में 60 घंटे गुजारने के बाद देश लौटे विंग कमांडर अभिनंदन (Wing Commander Abhinandan Varthman) को इंडियन एयरफोर्स (Indian Air Force) के हॉस्टल में शिफ्ट कर दिया गया है। हॉस्टल में शिफ्ट करने से पहले उनकी मेडिकल जांच की गई, लेकिन अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि उनकी मेडिकल रिपोर्ट में क्या आया है? बताया जा रहा है कि उनकी मेडिकल जांच की प्रक्रिया पूरी नहीं हुई है।

गौरतलब है कि 27 फरवरी को भारत में घुस आए पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ते हुए वह पाकिस्तान पहुंच गए थे। जहां उन्हें बंदी लिया गया था। पाकिस्तान में करीब 60 घंटे तक युद्ध बंदी के तौर पर गुजारने के बाद 1 मार्च की रात अभिनंदन देश लौट आए। वैसे तो पाकिस्तान विंग कमांडर अभिनंदन को दोपहर में ही भारत को सौंपने वाला था। इसके मद्देनजर भारत की तरफ से सारी तैयारियां भी पूरी की जा चुकी थीं, लेकिन पाकिस्तान की चालबाजियों के चलते दोपहर से रात का वक्त हो गया।

1 मार्च की शाम 3 बजे करीब अभिनंदन को पाकिस्तान ने रावलपिंडी से लाहौर पहुंचा दिया गया था। पर लाहौर से वाघा बॉर्डर लाने में उसने इतनी देर लगा दी, जिससे उसके नापाक इरादे भी सबसे सामने जाहिर हो गए। बताया जा रहा कि अभिनंदन को लाहौर में सेना की किसी छावनी में रोक कर रखा गया था और पाकिस्तान ने अभिनंदन का जबरन एक वीडियो बनवाया। उनसे पाकिस्तानी अधिकारियों ने कैमरे पर बयान दर्ज करने को कहा। इसके बाद ही उन्हें सीमा पार करके स्वदेश जाने दिया गया।

इसे भी पढ़ें: दुश्मन देश के कब्जे में ऐसे गुजरे विंग कमांडर अभिनंदन के 60 घंटे…

वाघा अटारी सीमा पर कुछ औपचारिकताओं के बाद उन्हें बीएसएफ अधिकारियों को सौंप दिया गया। बाद में वायुसेना के अधिकारी अपने साथ अभिनंदन को लेकर आए। इसके बाद विंग कमांडर को अटारी सीमा से वायुसेना की गाड़ी से अमृतसर ले जाया गया। इस दौरान पंजाब पुलिस की गाड़ियां उनकी गाड़ी के साथ चल रही थीं। इसके बाद अभिनंदन वर्धमान को हवाई मार्ग से दिल्ली लाया गया।

इससे पहले विंग कमांडर अभिनंदन 27 फरवरी को सुबह करीब 10 बजे पाकिस्तानी वायुसेना के फाइटर प्लेन का पीछा करते हुए पाकिस्तान की सीमा में जा घुसे थे। पाकिस्तान के एफ-16 को मार गिराने के बाद अभिनंदन का विमान भी क्रैश हो गया। इस वजह से उन्हें किसी तरह पैराशूट की मदद से उतरना पड़ा।

जब वह नीचे आए तब उन्हें एहसास नहीं था कि वह दुश्मन देश की धरती पर जा पहुंचे है। कुछ लोग उनके पास आए, जिनसे अभिनंदन ने पूछा कि वह कहां हैं। इस पर कुछ पाकिस्तानियों ने चालबाजी दिखाते हुए उनसे कहा कि आप भारत की धरती पर हैं। मगर अभिनंदन को कुछ शक हुआ। इसके बाद उन्होंने भारत माता की जय के नारे लगाए। जिस पर पाकिस्तानियों ने उन्हें घेर लिया। अभिनंदन किसी तरह खुद को बचाने के लिए वहां से भागे। बाद में उन्हें पाकिस्तानी सेना ने अपनी हिरासत में ले लिया। सेना ने उनसे पूछताछ की, मगर अभिनंदन ने उतना ही मुंह खोला, जितना उन्हें बताने की इजाजत होती है वायुसेना में। इसके बाद उन्हें पाकिस्तानी सेना ने चाय-कॉफी भी पिलाई। उसके बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने घोषणा की कि वह महज 2 दिन बाद ही वतन वापस हो जाएंगे।

इसे भी पढ़ें: कौन हैं विंग कमांडर अभिनंदन के साथ बाघा बॉर्डर तक चलकर आईं महिला?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here