Pulwama Attack: 6 महीने पहले ही हुआ था पिता का निधन, अब बेटा भी हो गया शहीद

Pulwama_Kerala_martyr_vasant_kumar

Pulwama Attack: सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर पुलवामा में हुए हमले में केरल के जवान वी वी वसंत कुमार भी शहीद हुए हैं। वसंत कुमार एक हफ्ते पहले ही परिवार के साथ छुट्टियां मनाकर ड्यूटी पर लौटे थे। वसंत केरल के वायनाड जिले के लक्कीड़ी के रहने वाले थे। पांच दिन छुट्टी बिताने के बाद कश्मीर में अपनी नई पोस्टिंग के लिए गए थे। इस हमले में वसंत सहित सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए हैं।

वसंत के परिवार को यह यकीन नहीं हो रहा है कि वे अब इस दुनिया में नहीं रहे। परिवार पर यह दूसरी बार दुखों का पहाड़ टूटा है। वसंत के पिता वासुदेवन का 6 माह पहले ही निधन हुआ है। तरक्की और बटालियन में बदलाव के बाद वसंत की कश्मीर में तैनाती हुई थी। इससे पहले वह पंजाब में तैनात थे।

छुट्टी बिताने के बाद वसंत आठ फरवरी को कश्मीर के लिए रवाना हो गए थे। परिवार को उनकी शहादत पर गर्व है। पर दो-दो सदस्यों के खोने से परिवार टूट गया है। वसंत की मां शांता और पत्नी शीना का रो-रोकर बुरा हाल है। उनके दो बच्चों, 5 साल के बेटे अमनदीप और 8 साल बेटी अनामिका को तो इसके बारे में पता भी नहीं है।

जब वसंत घर गए थे तो हर कोई बहुत खुश था। पूरा परिवार सर्कस देखने के लिए गया था। बच्चे अपने पिता का साथ पाकर काफी खुश थे। परिवार वालों ने कभी नहीं सोचा था कि जान गंवाने वालों में उनका अपना कोई शामिल होगा। वसंत ने सेना में 17 साल तक सेवाएं दी थीं। उनकी सेवानिवृति में सिर्फ दो साल रह गए थे। उन्हें तरक्की मिली थी और वे नई जिम्मेदारी संभालने कश्मीर गए थे। कश्मीर पहुंचने के बाद उन्होंने अपने परिवार को बताया था कि वह कश्मीर पहुंच गए हैं। पर इसके दो घंटे के भीतर ही धमाका हो गया और कुछ पल में ही सबकुछ बदल गया।

वीडियो देखेंः

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here